खुलासाः अमेरिका के पास भी मौजूद हैं सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत!

दिल्लीः भारत के पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक पर उठ रहे सवालों पर विराम लग गया है। भारत द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत अमेरिका के पास मौजूद हैं (US evidence Surgical Strike)।

अमेरिका के सेटेलाइट में कैद हुई सर्जिकल स्ट्राइक की तस्वीरें –

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्ट्राइक से समय अमेरिकी सेटेलाइट ने इस स्ट्राइक को रिकॉर्ड कर लिया था और उसके फुटेज अमेरिका के पास मौजूद है। सर्जिकल स्ट्राइक के तुरंत बाद अमेरिका की एनएसए सुसेन राइस ने भारत के एनएसए अजित डोभाल को फोन किया था।

यही नहीं सरकार के सूत्रों का ये भी कहना है कि कि अमेरिकी सेट में सर्जिकल स्ट्राइक की तस्वीरें भी कैद हुई हैं। आपको बता दें कि जिस वक्त अमेरिकी एनएसए ने जिस वक्त फोन किया था उस वक्त ऑपरेशन पूरी तरह खत्म भी नहीं हुआ था। भारतीय कमांडो सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देकर लौट रहे थे।

डीजीएमओ ने 29 सितंबर को दी थी स्ट्राइक की जानकारी –

भारतीय सेना के डीजीएमओ रणबीर सिंह ने 29 सितंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दावा किया था कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा के पार सर्जिकल स्ट्राइक्स कर कई आतंकियों शिविरों को ध्वस्त कर दिया है। डीजीएमओ सिंह ने बताया, ‘भारत लगातार उच्च कूटनीतिक और राजनीतिक स्तर पर मामले को उठाता रहा है। उन्होंने पाकिस्तानी डीजीएमओ को फोन करके इस बारे में जानकारी भी दी थी।

हालांकि पाकिस्तान लगातार अपनी खीज मिटाने के लिए ये कहता चला आ रहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक नाम की कोई घटना नहीं हुई है। जबकि भारतीय सेना ने हमला करने का समय और जगह भी बता दिया है।

पाक ने पत्रकारों को दिखाया था सर्जिकल स्ट्राइक कि जगह –

सर्जिकल स्ट्राइक के भारत के दावे को झूठा साबित करने के लिए पाकिस्तान ने देशी-विदेशी पत्रकारों को एलओसी का दौरा भी कराया। इस दौरान बाजवा ने भारत के दावे को मनगढ़ंत, बेबुनियाद, सफेद झूठ और गैर जिम्मेदाराना करार दिया था।

उन्होंने पत्रकारों के एक दल को पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के भम्भर और तत्ता पानी सेक्टर के दौरा कराया। उन्होंने इस दौरान देसी और विदेशी पत्रकारों से बात करते हुए कहा‌ कि हम पश्चिमी सीमाओं पर दहशतगर्दी खिलाफ जंग लड़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.