ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली का सियासी पारा सातवें आसमान पर, केजरी-मनोज आपस में भिड़े

नई दिल्ली: दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी और विपक्ष के बीच बड़ा हंगामा हो गया है। जी हां, दिल्ली के सीएम केजरीवाल और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी आपस में बहस करते हुए नजर आएं, जिसकी वजह से दिल्ली का सियासी पारा सातवें आसमान पर पहुंच चुका है। आइये जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में खास क्या है?

बीते दिनों से दिल्ली में चल रहा सीलिंग का मुद्दा अब गरमा गया, मामलें दिल्ली के सीएम केजरीवाल सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। याद दिला दें कि पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में सीलिंग के मुद्दे को लेकर सरकार और विपक्ष आमने सामने है। दरअसल, सीलिंग का मुद्दा नगरनिगम का होता है, ऐसे में नगरनिगम में बीजेपी का दबदबा है, यही वजह है कि दिल्ली सरकार और बीजेपी एक बार फिर आमने सामने आ चुकी है।

सीलिंग के मुद्दे को सुलझाने की कोशिश करते हुए सीएम केजरीवाल ने मंगलवार की सुबह अपने घर पर बीजेपी नेताओं की बैठक बुलाई, लेकिन बैठक में दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच जबरदस्त हंगामा हो गया। हंगामे के बीच जहां एक तरफ बीजेपी धरने पर बैठ गई है, तो वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल  ने सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कह दी है, ऐसे में देखना ये होगा कि आखिर केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से इस मामलें में क्या राहत मिल सकती है?

बैठक में समाधान की तलाश करते हुए केजरीवाल और मनोज तिवारी के बीच बहस छिड़ गई, जिसके बाद बैठक हंगामे तब्दील हो गया। बता दें कि दोनों ही पार्टियां एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप करती  हुई नजर आ रही है। जहां एक तरफ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि आम आदमी पार्टी ने अपना अपमान खुद ही किया है, तो वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी आरोप लगा रही है कि बीजेपी 351 सड़कों के मुद्दे पर अड़ गई, जिसकी वजह हंगामा हुआ। बता दें कि दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी चाहती है कि केंद्र इस मामले में अध्यादेश लाए।

Show More

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button