नई दिल्ली – इन दिनों इस बात की चर्चा हर जगह होती रहती है कि दुनिया का सबसे अमिर शख्स कौन है। लेकिन, आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में हमेशा से कुछ ऐसे लोग रहे हैं, जिनका दौलत पर कुछ ज्यादा ही अधिकार रहा है। इसलिए आज हम आपको दुनिया के इतिहास के उन 5 बड़े रईशों से मिलवाने जा रहे हैं, जो भारत के सबसे अमिर व्यक्ति मुकेश अंबानी से कहीं ज्यादा दौलत रखते थे। शायद आपको ये जानकर खुशी हो कि इस लिस्ट में एक भारतीय भी शामिल है। Richest person in this world.

जैसा की आप जानते हैं कि हाल ही में एक रिपोर्ट सामने आई थी जिसके मुताबिक, एमेजॉन डॉट कॉम के संस्थापक जेफ बेजोस माइक्रोसॉफ्ट के बिल गेट्स को पछाड़कर दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गये थे। लेकिन, इतिहास में कब किसके पास कितनी दौलत रही है यह जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। तो आइये देखते हैं कि इतिहास के सबसे अमिर व्यक्तियों की लिस्ट में कौन कौन शामिल है।

मंसा मूसा प्रथम

जायदाद – $400 अरब

मंसा मूसा प्रथम को दुनिया के इतिहास का सबसे अमिर बादशाह कहा जाता है। बादशाह मंसा मूसा प्रथम इतिहास का अब तक का सबसे रईस शख्‍़स है। बादशाह मंसा मूसा प्रथम का जन्म सन् 1280 में हुआ और उसने पश्चिमी अफ्रीका के मलियाई साम्राज्य पर सालों तक राज किया। मलियाई साम्राज्य घाना, टिम्बकटू और माली तक फैला हुआ है। उसने सोने और नमक के उत्पादन से इतनी दौलत कमाई कि वजह आज भी इतिहास का सबसे अमिर शख्स है।

एम्‍शेल रॉथ्सचाइल्ड

जायदादः $350 अरब

एम्‍शेल रॉथ्सचाइल्ड का जन्म सन् 1744 में हुआ। एम्‍शेल रॉथ्सचाइल्ड को दुनिया के इतिहास का दुसरा सबसे अमिर शख्स माना जाता है। मायेर एम्‍शेल रॉथ्सचाइल्ड ने 18वीं सदी के अंत में यूरोप में बैंकिंग तंत्र तैयार कर हाउस ऑफ रॉथ्सचाइल्ड की स्‍थापना की थी। एम्‍शेल रॉथ्सचाइल्ड के परिवार की गिनती आज भी दुनिया के सबसे रईस परिवारों में की जाती है। एम्‍शेल रॉथ्सचाइल्ड का परिवार आज कई तरह के कारोबार के ज़रिए पैसा कमा रहा है।

जॉन डी रॉकफेलर

जायदादः $340 अरब

जॉन डी रॉकफेलर का जन्म सन् 1839 में हुआ था। जॉन डी रॉकफेलर एक अमेरिकी उद्योगपति और कारोबारी थे। जॉन डी रॉकफेलर ने स्टैंडर्ड ऑयल कंपनी की स्थापना की और इतनी दौलत कमाई की उनका नाम इतिहास के सबसे अमिर शख्सियतों में हमेशा के लिए दर्ज हो गया। यह कंपनी उस वक्‍़त की सबसे बड़े पैमाने पर बिजनेस करने वाली कंपनी हुई करती थी।

एंड्रयू कार्नेज

जायदादः $310 अरब

एंड्रयू कार्नेज का जन्म सन् 1835 में हुआ था। एंड्रयू कार्नेज एक स्कॉटिश-अमेरिकी उद्योगपति थे, जिन्होंने 19वीं सदी में अमेरिकी स्टील इंडस्ट्री को विकसित किया और अरबों की दौलत कमाई। एंड्रयू ने अपना सफर एक टेलीग्राफर के रूप में शुरू किया और बाद में रेलरोड स्लीपिंग कार, ऑयल डेरिक और स्टील में निवेश करके बहुत अधिक दौलत कमाई।

निकोलस सेकेंड

जायदादः $300 अरब

निकोलस का जन्म सन् 1868 में हुआ था। निकोलस रूस के आखिरी राजा थे और उन्होंने रुस में सन् 1894 से 1917 तक राज किया। क्रांति के बाद उन्हें विरासत में इतनी संपदा मिली कि वो अचानक दुनिया का सबसे अमीर बना गए थे। निकोलस की गिनती भी दुनिया के सबसे अमिर लोगों में कि जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.