गुजरात में पद्मावत बैन फिर भी करणी सेना का तांंडव जारी, बसों में लगाई आग

गुजरात: गुजरात में भले ही भंसाली की फिल्म को बैन कर दिया गया हो, लेकिन फिर भी करणी सेना का तांडव रूप देखने को मिल रहा है। ऐसे में कई तरह के सवाल खड़े होते है। आखिर क्यों नहीं शांत हो रही है करणी सेना? देश प्रदेश के कानून की धज्जियां उड़ाती दिख ही करणी सेना। तो चलिए देखते है कि हमारी इस रिपोर्ट में क्या खास है?

गौरतलब है कि भंसाली की आने वाली फिल्म पद्मावत को लेकर देशभर में विरोध जारी है। जहां इसका विरोध कर रहे संगठनों का आरोप है कि फिल्म के जरिए अपमान किया जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ कोर्ट इसे आजादी का रूप दे रहा है। ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि आखिर कानून क्यों नहीं रोक पा रही है करणी सेना को? या फिर कानून कोर्ट के आदेश को अनदेखा कर रहा है? या फिर इन सबके पीछे का असल मांजरा कुछ और ही है?

बता दें कि गुजरात में करणी सेना का तांडव बढ़ता ही जा रहा है। करणी सेना विरोध के नाम पर थियेटर और बसों में तोड़फोड़ करती हुई नजर आ रही है, लेकिन गुजरात की बीजेपी सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई है। जी हां, किसी लोकतांत्रिक देश में विरोध करने की आजादी है, लेकिन विरोध के नाम पर उपद्रव मचाना ये कहां तक मुनासिफ है? खबरों के मुताबिक करणी सेना गुजरात के सिनेमाघरों में तोड़फोड़ करने के साथ ही बसों में आग भी लगा दी।

भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर कई तरह के विवाद सामने आ रहे हैं। दिलचस्प बात तो यह है कि फिल्म को लेकर नेतागण भी अजीब बयान दे रहे हैं। विवादों के बीच 25 जनवरी को पद्मावत को रिलीज किया जा रहा है, लेकिन करणी सेना के तांडव रूप देखकर सिनेमाघर वाले डर गये तो आखिर यह फिल्म रिलीज कहां होगी? और अगर यह फिल्म रिलीज हो भी गई तो सहमी भी जनता कैसे जाएगी देखने इस फिल्म को?

Leave a Reply

Your email address will not be published.