21 साल में घर-बार छोड़कर बन गई साध्वी, आज सिर्फ आवाज सुनने के उमड़ती है लाखों की भीड़

जब भी आप साधुओं के बारे में सोचते होंगे तो आपके दिमाग में एक उम्रदराज़ और बड़े लोगों की छवि आती होगी. अक्सर इस उम्र के लोगों को ही हम प्रवचन देते सुनते या देखते हैं. कम उम्र के साधू या या फिर साध्वी को प्रवचन देते आपने बहुत कम ही देखा होगा. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी साध्वी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. यह साध्वी उम्र में बहुत कम है. 21 साल की ये साध्वी पढ़ाई पूरी करने के लिए कॉलेज भी जाती है. कौन है ये साध्वी? क्या है इसका नाम, आईये जानते हैं.

21 साल की यह साध्वी राजस्थान की रहने वाली जया किशोरी धार हैं. भोपाल के इंदौर में बहुत जल्दी ही साध्वी जया किशोरी का प्रवचन होने जा रहा है. 21 साल की इस साध्वी ने लोगों पर अपनी एक खास पहचान छोड़ी है. छोटी उम्र की इस साध्वी का प्रवचन सुनने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं. कहा जा रहा है कि इंदौर में होने वाले प्रवचन में लाखों की संख्या में भीड़ उमड़ने की संभावना है. इतने लोगों के रहने के लिए प्रयाप्त व्यवस्था भी की गई है.

अगले महीने यानी फरवरी में यह सत्संग होने वाला है. यह सत्संग 9 से 12 फ़रवरी तक चलेगा. इस भव्य सत्संग के लिए करीबन तीन लाख वर्ग फुट में पंडाल लगाया जायेगा. सूत्रों ने बताया कि इंदौर में जया किशोरी का होने वाला यह पहला सत्संग है.

आपको जानकर हैरानी होगी कि महज़ 10 साल की उम्र में ही जया किशोरी अपना दिल भगवान श्री कृष्ण को दे बैठी थीं. घर में भक्ति का माहौल होने के कारण उनका रूझान भगवान श्री कृष्ण की तरफ बढ़ता चला गया. जया ने अपना पहला सुन्दरकांड पाठ 10 साल की उम्र में किया था. उनकी मीठी आवाज़ ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया. उनकी आवाज़ का जादू इस कदर चला कि आज लोग इन्हें सुनने के लिए दूर-दूर से आते हैं.

जया किशोरी भक्ति के साथ-साथ अपनी पढ़ाई भी जारी रखती हैं. भगवान की भक्ति का असर वह अपनी पढ़ाई पर नहीं पड़ने देतीं. कोलकाता के महादेव बिरला वर्ल्ड अकादमी से जया ने अपनी स्कूलिंग की है. फिलहाल के लिए वह भावनीपुर गुजराती सोसाइटी से अपनी आगे की पढ़ाई पूरी कर रही हैं. बचपन से ही भगवान की भक्ति में लीन होने के कारण लोग जया को राधा बुलाते थे. इंदौर में होने वाले प्रवचन का लाइव टेलीकास्ट संस्कार चैनल पर किया जाएगा.