अलमारी में चूहों-कॉकरोचों के साथ बंद मिंला चार साल का बच्चा,पुलिस ने मां को किया गिरफ्तार

दुनिया भर में बाल संरक्षण और बच्चों के अधिकारों को लेकर कई सारे अभियान चलाए जा रहे हैं लेकिन फिर भी मासूम बच्चों के साथ हो रही अमानवीय हरकतें सुनने को मिल ही जाती हैं। एक तरफ जहां देश-दुनिया में लाखों की संख्या में बच्चे ह्यूमन ट्रैफिकिंग का शिकार हो रहे हैं वहीं दूसरी तरफ बच्चे अब स्कूलों और घरों तक में महफूज नही हैं। हाल ही में जहां स्कूलों में बच्चों के साथ हो रहे खराब बर्ताव की कई सारी खबरे आई हैं वही अब अमेरिका से एक खबर ये भी है कि चार साल के मासूम को अपने ही घर में अलमारी के अंदर बंद कर रखा जा रहा था .. जी हां, शायद आपको इस पर यकीन ना हो पर ये एक सच्ची घटना है, पुलिस ने खुद ही इस घटना को उजागर किया है।

ये घटना अमेरिका के हाउसटन इलाके की है जहां पुलिस को एक घर में अलमारी के भीतर चार साल का एक बच्चा बंद मिला है। पुलिस अधिकारियों कि माने तो वो बच्चा काफी दिनों से उस अलमारी में ही रह रहा था। साथ ही पुलिस ऩे जांच में ये भी पाया है कि इस दौरान उस मासूम बच्चे को ड्रग्स तक दिया जा रहा था। पुलिस की पूछताछ में उस बच्चे ने बताया कि वो अलमारी ही उसकी दुनिया बन गई थी जहां उसमें बंद रहते हुए उसने चूहों और कॉकरोचों को अपना दोस्त बना लिया था। हालांकि, पुलिस ने इस मामले में उसकी मां को गिरफ्तार किया है और उस पर बच्चे को खतरे में डालने का मामला दर्ज किया गया है।

फिलहाल ये बच्चा बाल कल्याण अधिकारियों के पास हिरासत में रखा गया है और इस मामले की जांच अभी भी की जा रही है। दरअसल कुछ गड़बड़ होने के शक के आधार पर इस मामले में 20 दिसंबर को सर्च वॉरंट जारी हुआ था जिसमें ये मासूम बच्चा बरामद हुआ है। हालांकि उसके मिलने के दौरान उसकी मां वहां नहीं थी और इस मामले में बच्चे की मां एप्रल बरियर का कहना है कि उसने बच्चे की देखभाल का जिम्मा किसी और को दे रखा था और उसी ने बच्चे के साथ ऐसा बर्ताव किया है फिलहाल उस शख्स की पहचान नही हो सकी है। पर पुलिस अधिकारियों का मानना है कि वही शख्स उस घर के आसपास ड्रग्स बेचता था और उसी ने बच्चे को भी ड्रग्स दिया होगा।

वहीं बच्चे के पिता रॉबर्ट डिहार्ड का कहना है कि उसने अपने बच्चे को उसकी मां के साथ छोड़ा था.. मगर इस घटना के बाद वो अब बच्चे की कस्टडी लेना चाहता है । जबकि बाल कल्याण अधिकारियों ने बताया है कि  कि बच्चे के पिता पर भी पूर्व में ड्रग से जुड़े मामले रहे हैं, ऐसे में उसे ड्रग टेस्ट कराना होगा.. इसलिए टेस्ट के नतीजे आने तक अगले महीने के लिए उसकी कस्टडी की दरख्वास्त को टाल दिया गया है।