राजनीति

हेमा मालिनी ने डाला कमला मिल्स की आग में घी, मुंबई के लोग हुए नाराज

गुरूवार देर रात मुंबई के कमला मिल्स में हुई आगजनी की भीषण घटना में 14 लोगों की मौत हो गई और पचास से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, अचानक हुए इस वीभत्स घटना से पूरा देश स्तबद्ध रह गया.. एक तरफ जहां महाराष्ट्र में शाषन से लेकर प्रशासन तक में इस घटना को लेकर हड़कंम्प सी मच गई, महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़नवीस खुद घटना स्थल का जायजा लेकर लोगों के जख्मों में मलहम लगाने का काम कर रहे थे..  वहीं दूसरी तरफ बीजेपी की सांसद हेमा मालिनी ने ऐसा काम किया किया जिससे पीड़ितों का दर्द तो कम नहीं हुआ, लेकिन मुंबई के लोगों का गुस्सा और बढ़ा दिया। हेमा मालिनी ने ये जवाब तब दिया जब वो शुक्रवार को संसद सत्र में हिस्सा लेने आई थी।

आपको बता दें, मुंबई के लोवर परेल के कमला मिल कंपाउंड के पास एक रेस्टोरेंट में आधी रात भीषण आग लग गई थी। इस भीषण आग में 14 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब पचास से ज्यादा लोग अस्पताल में भर्ती है। आग में मुंबई का ये फेमस रेस्टोरेंट पूरी तरह जलकर खाक हो गया है।इस हादसे के बारे में एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि , ‘ये वाकया बढ़ती हुई आबादी की वजह से हुआ है, ऐसा नहीं है कि पुलिस काम नहीं कर रही है, वो शानदार काम करते हैं,लेकिन बावजूद इसके आबादी बहुत ज्यादा है और ये लगातार बढ़ रही है, मुंबई फैलती जा रही है।’ हेमामालिनी ने इस हादसे के लिए बीएमसी अधिकारी को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि आखिर उन्होंने इसकी इजाजत कैसे दी? साथ ही हेमा मालिनी ने संबंध में अपने सुझाव देते हुए कहा कि सरकार को हर शहरों की आबादी की सीमा तय करनी पड़ेगी, इसके बाद उस शहर में लोगों की एंट्री बंद करनी पड़ेगी।,

हालांकि हेमा मालिनी के इस बयान से मुंबई के लोगों नाराजगी देखने को मिल रही है.. साथ ही कई राजनेताओं ने भी इस पर एतराज जताया है। गौरतलब है कि गुरूवार की रात मुंबई के मोजोस लॉउंज में लगी इस भीषण आग ने जमकर तांडव मचाया। बताया जा रहा है कि आग इतनी तेजी से फैली की लोगों को भागने का भी मौका नहीं मिला। घटना के तुरंत बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने रेस्कयू ऑपरेशन घायलों को रेस्टोरेंट से बाहर निकाला। हादसे में सभी घायलों को पास के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां कई घायलों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। चश्मदीदों के मुताबिक रेस्टोरेंट में आग लगने से पहले जोरदार धमाका भी हुआ। जिसके बाद होटले के अंदर से चीख पुकार की आवाज सुनाई दी। कुछ ही देर रस्टोरेंट की लगी आग बाहर तक फैल गई।

बताया जा रहा है कि इस आग में सभी लोगों की मौत दम घुटने की वजह से हुई। मरने वालों में अधिकांश मोजो टेरेस रेस्टोरेंट के कर्मचारी और ग्राहक शामिल हैं। मरने वालों में 11 महिलाएं भी शामिल है। जिनमें कुछ अपने जन्म दिन को मनाने रेस्टोरेंट पहुंची थी। फिलहाल आग लगने का कारण पता नहीं चल सका है। पुलिस इस मामले की जांच की जुटी है..पुलिस ने रेस्टोरेंट मालिक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है वही इस मामले में महाराष्‍ट्र नगर निगम (बीएमसी) ने पांच अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया है।

Show More

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button