विशेष

चाय की छोटी सी दूकान चलती है ये 100 वर्ष की महिला, सच्चाई जानेंगे तो रह जायेंगे हक्के-बक्के

हमारे देश में कहानियों की कमी नहीं है। भारत में आपको एक से एक ऐसे अद्भुत लोग मिल जायेंगे, जिनके बारे में जानने के बाद आपके पैरों तले की जमीन खिसक जाएगी। आज हम आपको ऐसी ही एक महिला के बारे में बताने जा रहे हैं। उस महिला के बारे में जानने से पहले आप बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता और निर्देशक शेखर कपूर के बारे में कुछ जान लें। शेखर कपूर अपनी बेहतरीन फिल्मों ‘मिस्टर इंडिया’ और ‘बैंडिट क्वीन’ के लिए जाने जाते हैं।

शेखर कपूर की इन्ही बेहतरीन फिल्मों के लिए उन्हें हाल ही में खजुराहो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस अवार्ड के बाद उन्हें खजुराहों की गलियों में घूमते और नज़रों का मजा लेते हुए देखा गया था। इस दौरान उन्होंने कुछ फोटो भी खींची थी। घूमते हुए उनकी नजर अचानक एक 100 साल की वृद्ध महिला के ऊपर पड़ी।

उन्होंने उसकी फोटो ली और उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। फोटो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा कि, ‘यह महिला पिछले 50 सालों से एक ही जगह चाय पिला रही है।‘

उन्होंने आगे लिखा कि सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है कि इनके हाथ की चाय भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु भी पी चुके हैं। आपको बता दें चाय बनाने वाली इस बुजुर्ग महिला नाम हरदी बाई रैकवार है। यह बुजुर्ग महिला खजुराहो के पक्षिमी मंदिर समूह के करीब एसबीआई बैंक के सामने एक झोपडी में अपना गुजारा कर रही है। उन्होंने आगे लिखा है कि जब से इस महिला के पति की मौत हुई है, इनका कोई सहारा नहीं है। यह अपना गुजारा करने के लिए चाय बनाती हैं।

लगभग 100 की उम्र का होने के बाद भी यह लोगों को बहुत स्वादिष्ट चाय बनाकर पिलाती हैं। हरदी बै खजुराहों में बहुत प्रसिद्ध हैं। इसी वजह से फिल्म फेस्टिवल के बाद शेखर कपूर और जैकी श्रॉफ उनसे खुद मिलने गए थे। दोनों ने उनके हाथ की बनी चाय भी पी और उनके साथ फोटो भी खिंचवाई। फोटो शेयर करते हुए शेखर कपूर ने लिखा कि वह जहाँ भी जाते हैं, दुनिया में अपनी ख़ुशी ढूंढते हैं। यह उनकी महानता ही है कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु को चाय पिलाने के बाद भी एक सामान्य औरत बनी हुई हैं।

Back to top button