बॉलीवुड

टाइगर जिन्दा है रिलीज होते ही बुरी तरह फँसे सलमान, पहले ही दिन झेलना पड़ा दर्शकों का विरोध

मुंबई: बॉलीवुड के दबंग सलमान खान अपने फँस के बीच कई चीजों को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं। यह बात तो आप जानते हैं कि बॉलीवुड और विवादों का पूरा रिश्ता है लेकिन सलमान खान और विवाद का उससे भी गहरा रिश्ता है। बात सलमान खान की हो और बीच में किसी विवाद का जिक्र ना हो, ऐसा हो ही नहीं सकता है। सलमान खान की मोस्ट अवेटेड फिल्म टाइगर जिन्दा है सिनेमा घरों में आज रिलीज हो गयी है। लेकिन इस फिल्म के पहले दिन ही इसे भारी विरोध का सामना करना पड़ा।

सलमान खान इस फिल्म की रिलीज के साथ ही एक नई मुसीबत में फंसते हुए दिखाई दे रहे हैं। जगह-जगह सलमान खान का विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। बाल्मीकि समाज के युवा राजस्थान के साथ ही कई अन्य राज्यों में सलमान खान और शिल्पा शेट्टी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। जयपुर के एक सिनेमाघर के सामने सलमान खान की फिल्म टाइगर जिन्दा है का जमकर विरोध किया गया और लोगों ने सलमान खान के पोस्टर भी जलाये। उधमसिंह नगर में गुस्साए हुए लोगों ने कोतवाली में प्रदर्शन कर उनके खिलाफ पुलिस को तहरीर सौंपी।

मामला दरअसल यह है कि, कर्मचारी यूनियन ने सलमान खान और शिल्पा शेट्टी पर आरोप लगाया है कि एक नेशनल चैनल के इंटरव्यू में सलमान खान ने जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया और भद्दी टिप्पणी करते हुए बाल्मीकि समाज का मजाक उड़ाया है।

फिल्म टाइगर जिन्दा है के प्रमोशन के दौरान सलमान खान ने अपने डांस के टैलेंट को नापते हुए आपत्तिजनक शब्द इस्तेमाल किया था। जिसकी वजह से हर जगह प्रदर्शन हो रहे हैं। शिल्पा शेट्टी ने भी कथित तौर पर इस शब्द का इस्तेमाल किया कि वह घर पर कैसी दिखती हैं।

अनुसूचित जातियों के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने के लिए बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान और अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के खिलाफ शिकायतों पर अनुसूचित जाति/ जनजाति (एससी/एससी) के राष्ट्रीय आयोग ने सूचना और प्रसारण मंत्रालय, दिल्ली और मुंबई के पुलिस आयुक्तों से जवाब मांगा है। अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों के अत्याचार अधिनियम, 2015 के अनुसार एससी/एसटी आयोग ने एक सप्ताह के भीतर सलमान खान और शिल्पा शेट्टी के खिलाफ कार्यवाई के बारे में उत्तर माँगा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close