श्रीनगर: दक्षिणी कश्मीर के शोपियां में सोमवार को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मुहम्मद के दो आतंकी ढेर हो गए। मुठभेड़ में एक सैन्यकर्मी भी घायल हो गया। मुठभेड़ के दौरान आतंकियों के बचाव में उतरे भीड़ और पुलिस के बीच हिंसक झड़प भी हुई, जिसमें एक फोटोग्राफर को मिलाकर कुल 4 लोग जख्मी हो गए। जैश-ए-मुहम्मद के आतंकियों को शोपियां के बटमुरन गांव में देखे जाने की सूचना मिलते ही राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल ने सेना की 44 आरआर (राष्ट्रीय राइफल्स) व सीआरपीएफ की 14वीं वाहिनी के जवानों के साथ विशेष अभियान चलाया।

सुरक्षाबलों को इस बात की जानकारी मिली की गाँव में पाकिस्तानी आतंकियों के साथ ही एक स्थानीय आतंकी भी छुपा हुआ है। स्थानीय आतंकी का नाम तनवीर बताया जा रहा है। इन आतंकियों के बारे में कहा जा रहा है कि ये एक सरकारी कर्मचारी मुहम्मद याकूब के घर में छुपे हुए थे। जब सुरक्षाबलों ने आतंकियों की घेराबंदी शुरू की तो उनके बचाव में स्थानीय लोग घरों से बाहर निकल आये। स्थानीय लोगों ने आतंकियों को भगाने के लिए सेना पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। लेकिन जवान पत्थरबाजी झेलते हुए घेराबंदी जारी रखी।

आतंकियों ने घेराबंदी तोड़ने के लिए जवानों के ऊपर फायरिंग शुरू कर दी, इसमें एक जवान घायल हो गया। अन्य जवानों ने जवाबी कार्यवाई करते हुए फायरिंग शुरू की और आतंकियों के भागने के इरादे को नाकाम कर दिया। पुलिस ने आतंकियों के बचाव में उतरे लोगों को खदेड़ने के लिए लाठियों और आंसू गैस का इस्तेमाल किया। इसी तरह एक तरफ आतंकी और सुरक्षाबलों के बीच गोलीबारी हो राय थी तो दूसरी तरफ स्थानीय लोगों और पुलिस के बीच हिंसक झडपें हो रही थी।

रात को लगभग साढ़े नौ बजे के आस-पास जिस घर में आतंकी छुपे हुए थेम उसमें एक जोरदार धमाका होता है और आग लग जाती है। जब आग से बचने के लिए आतंकी अंधाधुंध गोली बरसाते हुए बाहर निकलने लगे तो सेना की गोलियों का शिकार बन गए। आग लगने से मकान का एक हिस्सा भी ढह गया। सेना ने मरे हुए आतंकियों की तलाश शुरू की तो बचे हुए आतंकियों ने गोली बरसानी शुरू कर दी। अधिकारीयों ने बताया कि आतंकियों की पहचान उनके शव बरामद होने के बाद ही की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.