सास-बहू की लड़ाई का अनोखा रंग, एक दुसरे के खिलाफ दोनों बैठी अनिश्चित कालीन धरने पर

जयपुर: अक्सर कहा जाता है कि सास-बहू का रिश्ता माँ-बेटी के रिश्ते जैसा होता है। लेकिन सच बात यह है कि ऐसा बहुत कम ही देखने को मिलता है। ज्यादातर सास-बहुएँ आपस में किसी ना किसी बात को लेकर लड़ती हुई ही दिखाई देती हैं। लेकिन इस बार मामला कुछ अलग है। इस बार सास-बहू ने अपने कारनामों से रिकॉर्ड कायम कर दिया है। हाल ही में जयपुर में एक सास-बहू की लड़ाई पुलिस के लिए बड़ी मुसीबत बन गयी है। दोनों ही एक दुसरे के खिलाफ घर के बाहर धरने पर बैठ गयी हैं।


इन दोनों के बारे में कहा जाता है कि कभी ये एक दुसरे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने थाने पहुँच जाती हैं तो कभी सड़क पर एक दुसरे के खिलाफ नारेबाजी करने लगती हैं। यह मामला जयपुर के हरमाड़ा क्षेत्र का है। वहाँ के एक परिवार में काफी समय से विवाद चल रहा है। इस वजह से ससुराल वालों ने बहू को घर से बाहर निकाल दिया है। कुछ दिनों तक अपने मायके में रहने के बाद वह अपने सुसराल वापस आ गयी और धरने पर बैठ गयी है। वह पिछले एक सप्ताह से धरने पर बैठी हुई है।

बहू ने घर के गेट पर कई बैनर बैनर भी लगा रखा है जिसपर लिखा हुआ है, “ससुर जी गेट खोलो,आपकी बहू बाहर खड़ी है” वहीं दूसरे पर लिखा है, “ससुराल वालों से प्रताड़ित एक बहू का ससुराल वालों के खिलाफ दिया गया अनिश्चितकालीन धरना।“ बहू ने अपने पति, सास और ससुर के खिलाफ हरमाड़ा थाने में मारपीट और दहेज़ उत्पीड़न का मामला भी दर्ज करवा रखा है। जब बहू को आस-पास के लोगों और रिश्तेदारों का समर्थन मिलने लगा तो उसकी सास भी उसके सामने धरने पर बैठ गयी।

सास ने भी एक बैनर लगाया है जिसपर लिखा है, “मुझे मेरी क्रूर बहू से बचाओ।“ सास ने भी रविवार को बहू के खिलाफ थाने में मारपीट का मुकदमा दर्ज करवाया है। सुचना पर पुलिस पहुंचकर मौके से दोनों पक्षों के 5 लोगों को हिरासत में ले लिया है। जानकारी के अनुसार विवाह 2009 में हुआ था। 5 सालों तक तो सब ठीक रहा लेकिन उसके बाद विवाद बढ़ने लगा। इसके बाद बहू मायके चली गयी। दो साल बाद वह फिर ससुराल आयी लेकिन फिर भी स्थिति नहीं बदली। इसके बाद वह छः महीने पहले फिर मायके चली गयी थी और वहाँ से आने के बाद धारना देना शुरू कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.