मुख्य समाचार

गांधी जी का चश्मा लगाकर फंस गया रेलवे, जानिए क्या है मामला

अपनी लेट लतीफी और सुविधाओं को लेकर भारतीय रेलवे हमेशा चर्चा में रहा है। कभी बिना ड्राइवर के ट्रेन सैकड़ों किलोमीटर का सफर कर लेती है। कभी मुंबई जाने वाली ट्रेन दक्षिण की ओर जाने लगती है। साफ सफाई के मामले में हमेशा फेल रहने वाली ट्रेन इन दिनों खूब चर्चा में है। देश ही नहीं दुनिया में भी भारतीय रेल का नाम खराब है। कहा किस ट्रेन का एक्सीडेंट और पटरी से उतरने की घटना हो जाए पता ही नहीं चलता। यही लेट लतीफ ट्रेन और अपनी खराब सर्विस के लिए जानी जाने वाली रेलवे के अधिकारियों का एक और कारनामा सामने आया है जिसके बाद चारों तरफ रेलवे की बदनामी हो रही है। दरअसल स्वच्छ भारत मिशन के तहत रेलवे को स्वच्छ बनाए रखने के लिए यात्रियों को जागरूक करने को रेल प्रशासन ने बिना ध्यान दिए सीढि़यों पर स्वच्छता स्लोगन के साथ महात्मा गांधी के चश्मे का फोटो चिपका दिया जिसके बाद रेलवे एक बार फिर विवादों में है।

रेलवे की इस करतूत के बाद एक तरफ जहां यात्रियों ने इस का विरोध करना शुरु कर दिया है। वहीं राजनीति भी शुरु हो गई है। पश्चिम बंगाल के मंत्री लक्ष्मीरतन शुक्ला ने भी इसे गांधी का अपमान करार दिया है। दबाव के चलते रेल प्रशासन ने स्लोगन व चश्मे को मिटाने का आश्वासन दिया है।

दरअसल हावड़ा रेल प्रशासन ने यात्रियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए डीआरएम कार्यालय और उच्च श्रेणी प्रतीक्षालय में जाने वाली सीढि़यों पर स्वच्छता से जुड़े स्लोगन तथा इसके दोनों ओर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चश्मे की फोटो को भी चस्पा कर दिया गया था। लेकिन रेलवे का ये प्रयास उसी के गले में उल्टा पड़ गया। पैरों तले गांधी के चश्मे को आता देख यात्रियों ने रेल प्रशासन की सोच पर सवाल उठाना शुरू कर दिया। हावड़ा स्टेशन पहुंचे यात्रियों ने जब ये नजारा देखा तो हैरान रह गए। उनका कहना है कि गांधी के चश्मे को जहां ऊपर रखा जाना चाहिए, वहीं रेल प्रशासन ने इसे पैरों तले कर दिया है, जो निदंनीय है।

मामला सामने आने के बाद पश्चिम बंगाल के खेल राज्य मंत्री लक्ष्मीरतन शुक्ला ने भी रेल प्रशासन को आड़े हाथों लिया है। लक्ष्मी रतन शुक्ला ने केंद्र की मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि स्वच्छता अभियान के प्रचार में साफ झलक रहा है कि कौन स्वच्छ है और कौन अस्वच्छ। उन्होंने तत्काल चश्मे की फोटो को हटाए जाने की मांग की है।

Related Articles

Close