3 दिसम्बर से पहले करें ये काम, मनचाही मुराद हो जाएगी पूरी

सनातन धर्म में दिन-माह की गणना गूढ़ ज्ञान पर आधारित है.. इसमे ना सिर्फ समय काल को माह के रूप विभाजित किया गया है बल्कि प्रकृति के अनुसार हर माह के बारे में कुछ नियम और उपाय बताए गए हैं जिन्हे करने से हमे जीवन में उन्नति और सफलता मिलती है। आज हम आपको वर्तमान माह अगहन के दौरान किए जान वाले कुछ आसान से उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे ना सिर्फ के जीवन की सभी तरह की समस्याओं का निदान हो सकता है बल्कि आपकी मनचाही मुराद भी पूरी हो सकती है। चूंकि वर्तमान समय में अगहन का माह चल रहा है जो 5 नवंबर से ही शुरू हो गया है और 3 दिसंबर तक चलेगा.. ऐसे में ध्यान रहे ये उपाय आपको 3 दिसम्बर से पहले करने हैं। आइए जानते हैं, क्या हैं वो उपाए जो आपकी मन की मुराद पूरी कर सकते हैं..

हिन्दू पंचांग के अनुसार वर्ष का नवां महीना अगहन कहलाता है। अगहन मास को मार्गशीर्ष नाम से भी जाना जाता है। सनातन धर्म में अगहन माह का विशेष महत्व हैं.. शास्त्रों में इस महीने को भगवान श्रीकृष्ण का स्वरूप कहा गया है । धर्म ग्रंथों के अनुसार इस महीने में शंख पूजन का फलदायी होता है.. और साधारण शंख को श्रीकृष्ण के पंचजन्य शंख के समान समझकर उसका पूजन करने से सभी मनोवांछित फल प्राप्त हो जाते हैं । विष्णु पुराण में बताया गया है कि देवी महालक्ष्मी समुद्र की पुत्री है और शंख को लक्ष्मी का भाई माना गया है । इन्हीं कारणों से शंख की पूजा भक्तों को सभी सुख देने वाली गई है । हम आपको शंख पूजन के कुछ तरीके बता रहे हैं जिससे आपकी मनोकामना पूरी हो सकती है..

आर्थिक समस्याओं से निदान पाने के लिए करें दक्षिणावर्ती शंख पूजन

अगहन के मास में दक्षिणावर्ती शंख में दूध भर कर उस से विष्णु भगवान का अभिषेक करें, इस से धन समबन्धी समस्याओं से मुक्ति मिलती है। ध्यान रहे कि पूरे विधि विधान से ये पूजा करें और नियमित रूप से करें ।

भगवान विष्णु के मंदिर में शंख का दान करें

इस महीने में शंख की पूजा करने के साथ ही शंख दान करने का भी बहुत महत्व है। अगहन का महीना श्रीकृष्ण भगवान को बहुत प्रिय है साथ ही श्रीकृष्ण को शंख भी बहुत प्रिय था। इस महीने वो अपने भक्तों की मनोकामनाएं खास तौर पर पूरी करते हैं। ऐसे में अगर आपको धन संबंधी कोई समस्या है तो तो अगहन के महीने में  भगवान विष्णु के मंदिर में शंख का दान करें, इस से धन संबंधित समस्याओं का तुरन्त निदान होता है।

पितृ दोष समाप्त करने के लिए शंख और गंगाजल का करें उपाय

घर में जिस जगह पर आप पीने का पानी रखते हैं, वहा पर दक्षिणावर्ती शंख में गंगाजल भरकर रखें, इस से पितृ दोष कम हो जाता है। घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। कष्ट दूर हो जाते हैं।

धन लाभ के लिए तिजोरी में ऐसे रखें शंख

मोती शंख में साबूत चावल भर कर रखें, बाद में इसकी पोटली बनाएं और तिजोरी में रखें, आर्थिक लाभ होने की संभावना रहती है। इस बात का ख्याल रखें कि पूजा करने के बाद ही शंख को तिजोरी में रखें। आर्थिक लाभ होने पर उस से गरीबों की भी मदद करें।

पूजा घर में करें शंख स्थापना

पूजा घर में शंख की स्थापना करने से काफी लाभ मिलता है पर ध्यान रहे कि शंख दक्षिणावर्ती हो, स्थापना के बाद रोज पूरे विधि विधान से शंख की पूजा करें, उसे नित्य साफ पानी से धोएं, ऐसा करने से घर में बरकत होती है.. घर पर बुरी नजरों का साया भी नहीं पड़ता है।

शंख से मां लक्ष्मी का अभिषेक

दक्षिणावर्ती शंख में गंगाजल और केसर मिलाकर इस से मां लक्ष्मी का अभिषेक करें, धन लाभ होगा। अगहन के महीने में ऐसा करने से विशेष लाभ होता है। आप के संकट दूर हो जाते हैं और मां लक्ष्मी की कृपा मिलती है।

पानी की टंकी में रखें शंख

परिवार की तरक्की और अपने घर को कष्टों से बचाने के लिए आप पानी की टंकी में शंख रखें, इस से घर में बरकत होती है। घर पर मां लक्ष्मी की कृपा भी बनी रहती है।

शुक्र दोष दूर करने के लिए करें ये उयाय

जीवन में शुक्र दोष होने से आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति नही हो पाती है ऐसे में शंख का उपाय कर सकते हैं .. इसके लिए एक सफेद कपड़े में सफेद शंख , चावल और बताशे लपेट कर नदी में बहाएं, ऐसा करने से शुक्र का दोष दूर हो जाता है।

इन सारे उपायों के साथ ही अगहन के महीने में रोज तुलसी के साथ दक्षिणावर्ती शंख की भी पूजा करें, साथ ही शुद्ध घी का दीपक भी जलाएं। इससे भगवान श्री कृष्ण अपने भक्तों की पुकार अवश्य सुनते हैं और उनके मनोकामना भी पूरी करे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.