विशेष

बचपन में चाय बेचने को लेकर पीएम मोदी ने बोला था झूठ? सच जानकर उड़ जाएंगे होश

नई दिल्ली – इन दिनों सोशल मीडिया पर एक तस्वीर बड़ी तेजी से वायरल हो रही है। वायरल हो रही इस तस्वीर के जरिए पीएम मोदी को झूठा साबित करने की कोशिश की जा रही है। दरअसल, एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि पीएम मोदी ने वडनगर रेलवे स्टेशन पर बचपन में चाय बेचने को लेकर झूठ बोला था। इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा गया है – नरेंद्र मोदी का जन्म 1950 में हुआ और वडनगर में 1973 में ट्रेन चली, उस वक्त वो 23 साल के थे। 20 की उम्र में घर छोड़ दिया तो चाय कब बेची थी?

क्यों वायरल हो रही है ये ख़बर?

दरअसल, एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी का जन्म 1950 में हुआ। लेकिन, दस्तावेज के मुताबिक वडनगर में 1973 में ट्रेन चली थी, यानि उस वक्त मोदी 23 साल के थे। जबकि, उन्होंने कहा था कि वो 20 की उम्र में घर छोड़ दिये थे, तो उन्होंने चाय कब बेची थी? इस बात का सच साबित करने के लिए सबसे जरुरी ये है कि क्या 1973 से पहले वडनगर रेलवे स्टेशन नहीं था?  साथ ही हम ये भी बताएंगे कि यह खबर वाकई में कितनी सच है। 1973 से पहले वडनगर रेलवे स्टेशन था या नहीं? इसका जवाब जानने के लिए कि गई पड़ताल में सामने आया की, पश्चिमी रेलवे की वेबसाइट के मुताबिक मेहसाणा और वडनगर के बीच 21 मार्च 1887 को एक रेलवे लाइन शुरु की गई थी।

जांच में क्या बात आई सामने?

आगे की जांच में यह पता चला कि अंग्रेजों को शासन काल में व्यापार के लिए गुजरात के कई जिलों में रेलवे लाइन बिछाई गई थी, जिसमें वडनगर में भी रेलवे लाइन बनाया गया था। वहीं कुछ अन्य स्रोतों से यह पता चला है कि, इस रेलवे लाइन का निर्माण बड़ोदा स्टेट के द्वारा गायकवाड़ के राज में हुआ था। इस लाइन को गायकवाड़ ने बड़ोदा राज्य में पैदा होने वाली कपास कि अमेरिकी नागरिक युद्ध (1861-1865) के कारण आपूर्ति में आने वाले व्यवधान के दौरान इंग्लैंड में बाजारों में आपूर्ति के लिए बनाया गया था। इसके अतिरिक्त इंटरनेट पर वडनगर – एक प्राचीन नगरनाम से पड़े एक ब्लॉग के मुताबिक, 1893 में वडनगर स्टेशन के पास एक ऐंग्लो-वर्नैक्यूलर स्कूल खोला गया था। यानी स्टेशन उस वक्त यहां मौजूद था।

क्या है इस वायरल ख़बर का सच?

पूरी जांच के बाद यह बात साफ हो गई कि सोशल मीडिया पर खुब शोयर कि जा रही यह तस्वीर और इसको लेकर किया जा रहा यह दावा पूरी तरह से झूठा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि वडनगर में पहली ट्रेन 1973 में आई, पीएम नरेंद्र मोदी का जन्म 1950 में हुआ। यानि उस वक्त मोदी 23 साल के थे। 20 की उम्र में घर छोड़ दिया तो चाय कब बेची थी? लेकिन जांच में यह बात साफ हो जाती है कि, वडनगर में 1973 से काफी पहले ही रेलवे लाइन बन चुकी थी और वहां स्टेशन भी मौजूद था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button