नई दिल्ली: देश का बड़ा उद्योगपति और भगोड़ा विजय माल्या देश के 9 हजार करोड़ रूपये लेकर फरार हो गया और इस समय मजे से लन्दन में रह रहा है। बैंकों को चपत लगाकर इतनें रूपये हजम करनें वाले माल्या और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के रिश्तों का खुलासा एक जाँच रिपोर्ट में किया गया है। इससे यह पता चला कि सोनिया के ऊपर माल्या काफी मेहरबान था। रिपोर्ट से पता चलता है कि माल्या और उसके एक सहयोगी के ईमेल से यह राज सामनें आया है कि कैसे किंगफिसर ने सोनिया और उनके रिश्तेदारों के सामान्य टिकट को फर्स्ट क्लास में बदला था।

नेता घूम रहे थे विदेश यहाँ बैंक लूट रहा था माल्या:

एक न्यूज़ चैनल के पास इस मामले से जुड़े हुए सरे जाँच रिपोर्ट मौजूद हैं। जिसमें सिलसिलेवार तरीके से बताया गया है कि किस तरह से विजय माल्या के फ्री टिकटों ने उनके लिए हथियार का काम किया। यूपीए के बड़े नेता विदेशों में घूमनें में लगे रहे जबकि माल्या देश के बैंकों को लूटनें में लगा हुआ था। सीरियस फ्रंट इन्वेस्टिगेशन ऑफिस ने विजय माल्या के खिलाफ जाँच तब शुरू की जब, वह देश से 9 हजार करोड़ रूपये लेकर फरार हो गया।

दस्तावेजों में जिक्र है सोनिया गाँधी के नाम का भी:

जैसे-जैसे जाँच आगे बढती गयी एक नई जानकारी सामनें आयी। इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि आखिर क्यों विजय माल्या को इतने बड़े स्तर पर बैंकों ने लोन दिया था? इस रिपोर्ट में कई बड़े नाम सामने आये हैं। उन बड़े नामों के खिलाफ सबूत विजय माल्या के वो ईमेल हैं जो छापे के दौरान उसके कंप्यूटर से बरामद हुए थे। इन दस्तावेजों में यूपीए सरकार के दौरान सोनिया गाँधी के नाम का भी जिक्र है।

बुरी तरह से फँस सकती है कांग्रेस:

जाँच में इन ईमेल की तारीख 1 जून 2007 से 13 जुलाई 2007 औऱ 4 दिसंबर 2010 से 5 दिसंबर 2010 बताई गयी है। रिपोर्ट के अनुसार, किंगफिशर एय़रलाइंस की सेल्स टीम के बड़े अधिकारी विजय अरोडा ने अपने वरिष्ठ लोगों को भेजे ई-मेल में कहा है कि सोनिया गांधी और उनका परिवार किंगफिशर एयरलाइंस से यात्रा कर रहा है चाहे जो भी हो इस मामले के सामने आनें के बाद कांग्रेस का बचना अब मुश्किल लग रहा है। इस मामले में गाँधी परिवार के साथ कांग्रेस की नैया डूबने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.