आर्थिक समस्याओं से जुझनें वाले घर की इस दिशा में बनवाएं मंदिर और हो जाएँ मालामाल

आज के समय में हर व्यक्ति को चाहे वह महिला हो यह पुरुष हो, सबको धन की आवश्यकता पड़ती है। बिना धन के आज के समय में एक कदम भी चल पाना मुश्किल हो गया है। आज हर चीज धन की बदौलत ही मिल रहा है। यहाँ तक की समाज में इज्जत भी उसी व्यक्ति को मिलती है जो ज्यादा धनवान होता है। ऐसे में गरीब व्यक्ति का क्या होगा, सोचकर भी डर लगता है। हालांकि हर जगह ऐसा नहीं होता है, लेकिन ज्यादातर यही देखनें को मिलता है कि गरीब का उपहास ही उड़ाया जाता है। लोग बाहर से गरीब के प्रति सांत्वना दिखाते हैं।

मंदिर का सही जगह पर होना है बहुत जरुरी:

हर व्यक्ति अपनी हर प्रकार की समस्याओं से मुक्ति पानें के लिए देवताओं की पूजा-पाठ करता है। किसी भी धर्म का व्यक्ति हो वह अपने धर्म के अनुसार पूजा-पाठ जरुर करता है। हिन्दू में देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। इसके लिए कई लोग देवी-देवताओं के मंदिर जाते हैं तो कई लोग घर पर ही मंदिर बनाकर देवी-देवताओं को निवास करवा लेते हैं। हर घर में सुबह-शाम पूजा की जाती है। लेकिन कई घरों में बनें मंदिर का स्थान सही नहीं होता है, जबकि इसका सही होना बहुत ही जरुरी होता है।

अच्छा फल मिलनें की जगह भुगतनें पड़ते हैं बुरे परिणाम:

ऐसा माना जाता है कि पूजा करनें का स्थान सही ना होनें पर की जानें वाली पूजा का फल नहीं मिलता है। इसका अच्छा फल मिलनें की बजाय व्यक्ति को बुरे परिणाम भुगतनें पड़ते हैं। इसका बुरा प्रभाव खुद के ऊपर या परिवार के सदस्यों पर देखा जा सकता है। इसलिए यह बहुत जरुरी हो जाता है कि घर में पूजा का स्थान सही जगह पर ही हो। वास्तु के हिसाब से घर में पूजा का स्थान होनें पर शुभ फलों की प्राप्ति होती है। केवल यही नहीं सही दिशा में मंदिर होनें से आप धनवान भी बन सकते हैं। आज हम आपको बतानें जा रहे हैं कि घर की किस दिशा में मंदिर होना चाहिए।

घर में मंदिर बनाते समय रखें ये सावधानी:

*- वास्तु के हिसाब से घर में पूजा का स्थान उत्तर या पूर्व होना चाहिए।

*- भूलकर भी पूजा वाले स्थान को रसोइघर्मे नहीं बनाना चाहिए।

*- भूलकर भी घर के मंदिर में एक ही भगवान की दो फोटो या मूर्ति नहीं रखना चाहिए।

*- एक घर में पूजा के लिए एक से ज्यादा पूजा वाला स्थान बनाना भी हानिकारक हो सकता है। इसलिए एक घर में एक ही मंदिर होना चाहिए।

*- कभी भी पूजा घर आपके बेडरूम में नहीं होना चाहिए और पूजा करते समय आपकी पीठ हमेशा उत्तर की तरफ हो तो ज्यादा अच्छा होता है। आपका मुख पूर्व या उत्तर में भी हो तो पूजा फलीभूत होती है।

*- हमेशा पूजा वाली जगह फ़र्स से कुछ ऊपर होनी चाहिए और पूजा वाले स्थान के आस-पास झाड़ू भूलकर भी न रखें।

*- जहाँ भी पूजा की जाती हो वहाँ लक्ष्मी जी और गणेश जी की मूर्ति या प्रतिमा जरुर रखना चाहिए।

*- पूजा वाले स्थान को हमेशा साफ़-सुथरा रखना चाहिए। सप्ताह में कम से कम एक बार उसकी सफाई कर देनी चाहिए।

अगर आप भी अपने घर के मंदिर को इन बातों को ध्यान में रखकर बनाते हैं तो आपको धनवान बनने से कोई नहीं रोक सकता है। आप कुछ ही समय में अरबपति भी बन सकते हैं। यकीन ना आये तो एक बार आजमा कर देखिये।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.