स्वास्थ्य

क्‍या कॉफी सचमुच आपके लिए हेल्दी है, जानिए क्या कहती है नई रिसर्च

क्या कॉफी सचमुच आपके लिए फायदेमंद हैं. अक्सर आने वाली नई रिसर्च से ये समझ पाना मुश्किल है कि असल में कॉफी फायदेमंद है या नुकसानदायक. जानिए, इसी पर आई नई रिसर्च क्या कहती है.

क्या है रिसर्च-

नई रिसर्च के मुताबिक, दिनभर में दो या उससे अधिक कॉफी के कप पीने से आपके स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है और आपको लंबे समय तक जीने में मदद मिल सकती है.

कैसे की गई रिसर्च-

करीब 20,000 व्यक्तियों के ऊपर ये रिसर्च की गई. रिसर्च के नए अवलोकन में पाया गया कि जिन लोगों ने रोजाना कम से कम चार कप कॉफी का सेवन किया था, उनको मौत का 64% कम जोखिम था, उन लोगों की तुलना में जिन्होंने कभी कॉफी का सेवन नहीं किया या जो कभी-कभी ही कॉफी का सेवन करते थे.

रिसर्च के नतीजे-

रिसर्च के नतीजों में पाया गया कि जो लोग दो कप से अधिक कॉफी पीते हैं उन लोगों की उम्र 45 साल तक पहुंचने के बाद उनमें मौत के जोखिम में कमी ज्यादा देखी गई. रिसर्च में यह सुझाव दिया गया कि बुजुर्ग लोग जो लंबे समय से कॉफी का सेवन कर रहे हैं, उनके लिए ये अधिक फायदेमंद हो सकती हैं.

रिसर्च में ये भी पाया गया कि भले ही आप रोजाना या नियमित कॉफी का सेवन ना करें लेकिन यदि आप लंबे समय से कॉफी का सेवन कर रहे हैं तो ये भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है.

इन बीमारियों को कम कर सकती है कॉफी-

रिसर्च में ये भी देखा गया कि कॉफी के सेवन से कई बीमारियों के जोखिम जैसे टाइप 2 डायबिटीज, यकृत रोग, कोलोरेक्टल कैंसर, अल्जाइमर और त्वचा कैंसर, को कम करने में मदद मिल सकती है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट-

राष्ट्रीय कॉफी एसोसिएशन के एक प्रवक्ता जो डीरूपो ने कहा, “कॉफी एंटीऑक्सिडेंट्स से भरी हुई है” “कॉफी बीन में पाए जाने वाले कई एंटीऑक्सिडेंट स्वाभाविक होते हैं, जबकि दूसरों को प्रक्रिया के दौरान बनाया जाता है. ये यौगिक विज्ञान में कई रोगों के जोखिम को कम करने में सकारात्मक प्रभाव से जुड़े हैं.”

कॉफी के यौगिकों के फायदे-

यूएससी के केक स्कूल ऑफ़ मेडिसिन में प्रतिरक्षाविज्ञानी चिकित्सा के एक सहयोगी प्रोफेसर और प्रमुख लेखक वी.वेंडी सेतियावान कॉफी की खपत और दीर्घायु पर कई अध्ययन कर चुके हैं. उनका कहना है कि कॉफी में पाए जाने वाले कुछ यौगिकों बेहतर इंसुलिन संवेदनशीलता, यकृत रोग और कम रानी सूजन को दूर करने से संबंधित है.

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close