नई दिल्‍ली – प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्‍वच्‍छता अभियान और देश में स्वच्छता ही सेवा महाअभियान को लोगों से जबरदस्‍त समर्थन मिल रहा है। हाल ही में क्रिकेट कि दुनिया के भगवान मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर ने इस अभियान का समर्थन किया है। उन्होंने ने भी सफाई और स्वच्छता के इस अभियान में भी हिस्‍सा लिया है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर देश कि सभी मशहुर हस्तियों का समर्थन इस अभियान को मिला है। अब इस अभियान को सफल बनने का जिम्मा मोदी सरकार के मंत्रियों ने भी उठा लिया है।

पर्यटन मंत्री ने खुद साफ की पान-गुटखे से रंगी दीवारें

दरअसल, केंद्रीय पर्यटन मंत्री अलफोंस कन्नथानम ने लोगों और अधिकारियों को उस वक्त चौंका दिया जब उन्होंने बुधवार (27 मई) को पान और गुटखे की पीक से रंगी दीवारों को साफ करने के लिए खुद ही झाड़ू उठाया। पर्यटन मंत्री ने दिल्ली के जनपथ बाजार में एक स्वच्छता अभियान के दौरान दीवारों को पहले पानी से साफ किया और फिर अपने हाथों में सर्फ लेकर दिवारों पर पड़े पान-गुटखा की पीक को खुद ही साफ किया।

जब उन्होंने दिवार पर पानी डालने के बाद स्कब्रर लाने का इशारा किया तो वहां खड़े लोग चौंक गए। जिसके बाद उन्हें प्लास्टिक के एक लंबे डंडे से लगा स्क्रबर दिया गया। लेकिन उन्होंने इनकार करते हुए हाथ से पकड़े जाने लायक स्क्रबर मांगा। इसके बाद उन्होंने खुद ही अपने हाथों में डिटरजेंट लेकर दीवार पर रगड़ने लगे।

अधिकारियों के उड़ गए होश

एक मंत्री को ऐसा करते देख उनके कर्मचारियों और वहां खड़े अधिकारियों के होश उड़ गए। जब उन्होंने ब्रश मांगा तो सभी इधऱ उधर भागते लगे। दीवार पर पड़ी पान-गुटखा की पीक को उन्होंने साफ अपने हाथों से साफ करने के बाद वहां मौजूद लोगों से पूछा कि, साफ हुआ न? आपको बता दें कि मंत्री ने ये सब करने से पहले पीएम मोदी के जन्मदिन पर भी सड़क किनारे पड़े सूखे पत्ते और खाली बोतले खुद उठाकर डस्टबिन में डाली थी।

भाजपा की सहयोगी शिवसेना भले ही बीजेपी कि किसी योजना का समर्थन न दिया हो लेकिन सफाई के अभियान पर युवा सेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की थी। अब इस अभियान से भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी जुड़ गए हैं। उन्होंने भी केंद्र सरकार के ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान पर समर्थन देने के लिए लोगों से अपने आस-पास की जगहों को साफ रखने की अपील की है।

 देखें वीडियो –

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.