खेल मंत्रालय संभालते ही राज्यवर्धन सिंह ने खिलाड़ियों को दिया बड़ा तोहफा, जानकर हो जायेंगे खुश

नई दिल्ली: इस बार मोदी के मंत्रिमंडल की विपक्ष ने भी तारीफ़ की है। खासतौर पर खेल मंत्रालय का पद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को दिए जानें से कई लोगों ने अपनी ख़ुशी जताई है। इसकी एक वजह साफ़ है कि इससे पहले किसी भी सरकार में किसी खिलाड़ी को खेल मंत्रालय का भार नहीं सौंपा गया था। खिलाड़ियों की परेशानियाँ जितनी अच्छी तरह से एक खिलाड़ी समझ सकता है, उतने बेहतर तरीके से कोई और नहीं समझ सकता है।

इंटरनेशनल की तैयारी में लगे एथलीटों को दिए जायेंगे 50 हजार रुपये महीने:

इससे पहले खेल मंत्री विजय गोयल थे। विजय गोयल के बाद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने खेल मंत्रालय का पद संभाला है। आते ही उन्होंने खिलाडियों के लिए एक बड़ा तोहफा देने का ऐलान भी कर दिया है। जी हाँ राज्यवर्धन सिघ राठौड़ ने खेल मंत्री बनते ही देश के खिलाडियों को तोहफा दिया है। उन्होंने घोषणा की है कि देश के 152 एथलीटों को जो इंटरनेशनल की तैयारी में लगे हुए हैं, उन्हें 50 हजार रूपये महीने दिए जायेंगे।

चिन्हित किये गए इन 152 एथलीटों को टोक्यो/कॉमनवेल्थ/एशियन खेलों की तैयारी के लिए युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय पैसे उपलब्ध करवाएगा। सरकार द्वारा गठित ओलम्पिक कार्यबल ने टोक्यो, ओलंपिक, राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों की तैयारी में लगे हुए एथलीटों को 50 हजार रूपये भत्ता देने की शिफारिश की हुई थी, जिसे सरकार ने मान लिया है। सरकार ने सिफारिशों को मानते हुए शुक्रवार के दिन बट्टा देने का फैसला किया है। सरकार की इस योजना के तहत 152 एथलीटों का चुनाव किया गया है और सभी को फायदा भी होगा।

खेल मंत्रालय का भार संभालते ही आ गए एक्शन में:

यह भत्ता 1 सितम्बर से 2017 से जोड़कर दिया जायेगा। आपको बता दें यह घोषणा केन्द्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर किया। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ट्वीट करके बताया कि अब से खेल मंत्रालय एशियाई, राष्ट्रमंडल, कॉमनवेल्थ और टोक्यो ओलम्पिक की तैयारी में लगे हुए 152 खिलाडियों को 50 हजार रूपये हर महीने देगा। पद संभालते ही राज्यवर्धन सिंह राठौड़ एक्शन में दिखाई पड़ रहे हैं। कुछ दिन पहले फीफा अंडर-17 फुटबॉल का जायजा लेने के लिए जवाहर लाल नेहरु स्टेडियम का औचक निरिक्षण करके सबको चौंका दिया था।

विजय गोयल की जगह संभाला है खेल मंत्रालय का पद:

आपको बता दें मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में हुए फेर-बदल के बाद विजय गोयल की जगह राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को केन्द्रीय खेल मंत्री बनाया गया है। इससे पहले वह सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री थे। पहली बार किसी खिलाड़ी को खेल मंत्रालय का भार सौंपा गया है। इस बार राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के लिए सबसे बड़ी चुनौती फीफा अंडर-17 फुटबॉल वर्ल्ड कप को सफलता पूर्वक आयोजित करना है। यह 6 अक्टूबर से लेकर 28 अक्टूबर तक चलने वाला है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.