All News, Breaking News, Trending News, Global News, Stories, Trending Posts at one place.

पहली बार मस्जिद में कदम रखेंगे पीएम मोदी, जानिए क्यों मोदी को जाना पड़ रहा है मस्जिद?

74

नई दिल्ली – जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 13 सितंबर को दो दिनों के लिए भारत आ चुके हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे अहमदाबाद में मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का शिलान्यास करेंगे। इसके बाद दोनों नेता अहमदाबाद की ऐतिहासिक सीदी सैय्यद मस्जिद जाएंगे। आपको बता दे कि ये पहला मौका है जब पीएम मोदी देश के किसी मस्जिद में जा रहे हैं। Pm modi to visit mosque.

ये हैं प्रधानमंत्री के कार्यक्रम

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट के जरिए बताया कि, वो और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे 13 तथा 14 सितंबर को कई कार्यक्रमों में भाग लेंगे। इन कार्यक्रमों का मकसद भारत तथा जापान के संबंधों को मजबुत करना है। दूसरे ट्वीट में पीएम ने कहा कि वो शिंजो के साथ अहमदाबाद और मुंबई के बीच भारत की पहली हाई स्पीड ट्रेन परियोजना का शिलान्याश करेंगे और इस मौके पर एक कार्यक्रम में शामिल होंगे। गौरतलब है कि हाई-स्पीड ट्रेन के मामले में जापान काफी विकसित देश है।

शाम को सीदी सैय्यद मस्जिद पहुंचेंगे मोदी

पीएम मोदी अपने दिन के सभी कार्यक्रमों को खत्म कर शिंजो आबे के साथ आज शाम जब सीदी सैय्यद मस्जिद पहुंचेंगे। इस मस्जिद की सबसे बड़ी विशेषता है कि शाम होते जब सूरज की किरणें मस्जिद की जाली से निकलती हैं, तो वहां एक अद्भुत नजारा देखने को मिलता। इसीलिए पीएम मोदी और शिंजो आबे के लिए शाम के समय ही फोटो सेशन का कार्यक्रम रखा गया है। आपको बता दें कि इस मस्जिद का निर्माण 1572 में सुल्तान शमसुद्दीन मुजफ्फर शाह के शासनकाल के दौरान हब्शी सीदी सैयद ने करवाया था, जिनके नाम पर ही इस मस्जिद का नाम रखा गया है।

 साबरमती आश्रम भी जाएंगे पीएम मोदी

आबे के स्वागत में शाम को अहमदाबाद में एक स्वागत समारोह का आयोजन होगा। इस कार्यक्रम में प्रस्तुतियों के जरिए भारत की सांस्कृतिक विविधताओं को दर्शाया जाएगा। आबे के दौरे से भारत को हाई स्पीड ट्रेन मिलेगी। इसके अलावा, मुंबई अहमदाबाद हाईस्पीड रेल यानी बुलेट ट्रेन परियोजना में तकरीबन 4,000 लोगों को प्रत्यक्ष एवं 20 हजार लोगों को परोक्ष रोज़गार मिलेगा। इसके अतिरिक्त वडोदरा में राष्ट्रीय रेलवे प्रशिक्षण संस्थान के समीप एक समर्पित हाईस्पीड रेल प्रशिक्षण संस्थान की स्थापना भी कि जाएगी।

DMCA.com Protection Status