समाचार

एग्जाम की तैयारी कर रही पत्नियों को वापस बुला रहे पति, अब SDM ज्योति मौर्या ने दिया ये संदेश

पिछले कुछ दिनों से पति के साथ बेवफाई करने के मामले को लेकर एसडीएम ज्योति मौर्या सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियों का विषय बनी हुई हैं। ज्योति मौर्या पर उनके पति आलोक मौर्या ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। आलोक मौर्य ने अपनी पत्नी पर यह आरोप लगाया है कि उसने पति-पत्नी के पवित्र रिश्ते में धोखा दिया है। आलोक मौर्य ने अपनी पत्नी के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि उच्च पद पर जाने के बाद ज्योति ने रिश्ते से किनारा कर लिया और उनके दूसरे किसी दूसरे अधिकारी के साथ अफेयर की बात भी कही है।

फिलहाल, ज्योति मौर्या और उनके पति आलोक मौर्या के बीच विवाद का मामला सोशल मीडिया पर काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। इस विवाद के बीच सोशल मीडिया यूजर्स तरहत-तरह के मीम्स बनाकर कमेंट कर रहे है। इतना ही नहीं, ज्योति मौर्य विवाद पर कुछ लोग रील्स बनाकर महिलाओं को ना पढ़ने देने का संदेश भी दे रहे है। वहीं इस घटना के सामने आने के बाद देश के कई इलाकों से खबर आ रही है कि कई पतियों ने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही अपनी पत्नी को इस डर से वापस बुला लिया है कि कहीं वे भी आगे चलकर ज्योति मौर्या के जैसे बेवफाई न कर दें।

बिहार के बक्सर से आया ताजा मामला

ज्योति मौर्या मामले के बाद पतियों में अजीब घबराहट है। देश के कई इलाकों से यह खबर आए दिन वायरल हो रही है कि पति पत्नियों की पढ़ाई छुड़वा रहे हैं। पतियों के मन में डर है कि कहीं उनकी पत्नियां भी ज्योति मौर्या की तरह पढ़ लिखकर उन्हें छोड़कर ना चली जाएं। इसी बीच ताजा मामला बिहार के बक्सर से सामने आया है, जहां पिंटू नाम के एक शख्स ने अपनी पत्नी को कोचिंग छुड़वा कर उन्हें वापस बुला लिया। पिंटू कुमार उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में एक निजी पेट्रोल पंप पर बतौर मैनेजर काम करते हैं।

पिंटू कुमार पिछले काफी लंबे समय से अपनी पत्नी को अफसर बनाने के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करवा रहे थे। लेकिन जब उन्होंने ज्योति मौर्या की खबर पढ़ी तो उन्होंने अपनी पत्नी खुशबू की बीच में ही पढ़ाई छुड़वा कर वापस बुला लिया। इस पर पिंटू की पत्नी खुशबू का कहना है कि सारी पत्नियां ऐसा नहीं कर सकती हैं, मैं ज्योति मौर्या जैसी नहीं बनूंगी, बेवफाई नहीं करूंगी। इन्हीं खबरों के बीच एसडीएम ज्योति मौर्या का एक बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने अपने इस बयान में उन पतियों को खास संदेश दिया है जो अपनी पत्नी को वापस बुला रहे हैं।

एसडीएम ज्योति मौर्या ने कही ये बात

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो ज्योति मौर्या ने कहा कि यह मेरा निजी मामला है। मैं इस मामले को पब्लिक में या सोशल मीडिया पर लेकर नहीं जाना चाहती हूं। ज्योति मौर्या ने कहा कि “रही बात देश की महिलाओं की तो मैं हमेशा महिलाओं के लिए बोलती हूं और उनके लिए काम भी करती हूं।” इस दौरान उन्होंने पत्नियों को वापस बुलाने वाले पतियों से अपील करते हुए कहा कि “सरकारी अधिकारी होने के नाते मैं सभी से अपील करती हूं कि महिलाओं को आगे बढ़ने से नहीं रोका जाए। उन्हें पढ़ने दिया जाए। ये सवाल ही नहीं खड़ा होता है कि उन्हें पढ़ने दिया जाए या नहीं। पढ़ना महिलाओं का संवैधानिक अधिकार है। उन्हें भी समाज में बराबरी का हक है। इसलिए महिलाएं बिल्कुल पढ़ेंगी और आगे भी बढ़ेंगी।” ज्योति मौर्या ने कहा कि अगर वह कुछ करना चाहती हैं, तो वह करेंगी। यह उनका अधिकार है।

आपको बता दें कि ज्योति मौर्य और आलोक मौर्या का यह विवाद फिलहाल कोर्ट में पहुंच गया है। ज्योति मौर्या के पति आलोक ने कई बार मीडिया के सामने आकर अपना दर्द बयां किया है। लेकिन इस मामले में अभी तक शांत रही एसडीएम ज्योति मौर्या ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि यह एक पारिवारिक विवाद है। इस दौरान उन्होंने अपने ससुराल वालों पर प्रताड़ित करने जैसे कई आरोप भी लगाए।

Back to top button
?>