समाचार

नीम करोली बाबा ने सुनी विराट कोहली की मुराद, 3 साल बाद खुला शतक का खाता, फैंस ने बताया चमत्कार

नीम करोली बाबा (Neem Karoli Baba) का नाम आप सभी ने जरूर सुना होगा। उन्हें चमत्कारी बाबा भी कहा जाता है। वह बीसवीं शताब्दी के आध्यात्मिक संत, महान गुरु और दिव्यदशी थे। वह हनुमान जी के बड़े भक्त थे। उन्होंने हनुमान जी के 108 मंदिर बनवाए थे। कई लोगों ने हनुमान जी का अवतार भी मानते हैं। उनकी समाधि नैनीताल के पास पंतनगर में है। कहा जाता है कि यहां जो भी व्यक्ति अपनी मुराद लेकर आता है कभी खाली हाथ नहीं लौटता है।

यहां बाबा नीम करौली की भी एक भव्य मूर्ति बनी है। इसके आगे माथा टेकने के लिए आम जनता से लेकर बड़े-बड़े सेलिब्रिटीज भी यहां आते हैं। कुछ समय पहले भारतीय क्रिकेट टीम के जाने-माने खिलाड़ी विराट कोहली और बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा भी यहां आए थे। वह इस साल जनवरी में परिवार सहित वृंदावन स्थित नीम करौली बाबा के आश्रम पहुंचे थे। यहां दर्शन करने के बाद जैसे विराट की किस्मत ही चमक गई। उन्होंने पूरे 3 साल बाद शतक जड़ा।

नीम करौली बाबा के आशीर्वाद से जड़ा शतक

दरअसल विराट कोहली (Virat Kohli) ने अहमदाबाद में बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी का चौथा टेस्ट मैच खेला। इसमें उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक शतक जड़ दिया। यह उनके टेस्ट करियर का 28वां शतक था। वहीं कोहली का शतक के मामले में बीते तीन साल से खाता सुना पड़ा था।

ऐसे में फैंस का मानना है कि उनका ये शतक कैंची धाम वाले नीम करोली बाबा की आशीर्वाद की देन है। कोहली पिछले साल नवंबर में पत्नी अनुष्का और बेटी वामिका संग कैंची धाम आए थे। यहां उन्होंने नीम करोली बाबा का आशीर्वाद मांगा था।

विराट ने अंतिम शतक 23 नवंबर 2019 में कोलकाता में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच में जड़ा था। अब 3 साल 3 महीने और 17 दिन के बाद उन्होंने टेस्ट मैच में शतक लगाया है। यह उनका टेस्ट क्रिकेट का 28वां और इंटरनेशनल क्रिकेट का 75वां शतक है। अनुष्का शर्मा ने भी विराट कोहली की वापसी का क्रेडिट नीम करौली बाबा को दिया है। उन्होंने अफगानिस्तान के खिलाफ शतक के बाद भी नीम करौली महाराज की फोटो सोशल मीडिया पर साझा की थी।

शादी के बाद धार्मिक हुए विराट

विराट ने एक बार इंटरव्यू में बताया था कि वह पहले अध्यात्म की तरफ इतने जुड़े हुए नहीं थे। लेकिन अनुष्का शर्मा से शादी के बाद उनका नजरिया बदला है। उनके कहने पर वह भगवान की और करीब आ गए हैं। इससे उन्हें अपना गुस्सा शांत करने में भी मदद मिली है। यदि आपने नोटिस किया हो तो पिछले कुछ सालों में विराट अपने क्रिकेट करियर से समय निकालकर लगातार मंदिरों के दर्शन कर रहे हैं। वह वृंदावन, हरिद्वार और उज्जैन स्थित महाकाल के दर्शन कर चुके हैं।

विराट जब नवंबर, 2022 में नैनीताल जिले के भवाली में स्थित कैंची धाम गए थे तो वहां उन्होंने कुछ दिन मुक्तेश्वर में गुजारे थे। फिर जनवरी, 2023 में उन्हें वृंदावन स्थित नीम करौली बाबा के आश्रम में देखा गया। इतना ही नहीं इसके बाद वह ऋषिकेश में मुनि की रेती स्थित स्वामी दयानंद आश्रम भी गए थे। यहां क्रिकेटर ने स्वामी दयानंद की समाधि पर मत्था टेक धार्मिक अनुष्ठान में हिस्सा लिया था। बाद में उन्होंने वहां के संतों को भरपेट खाना भी खिलाया था। उनकी यह ट्रीप सिक्रेट रखी गई थी।

Back to top button
?>