समाचार

कुएं में मिला प्रेमी जोड़े का शव, रस्सी से बंधा था एक दूसरे का हाथ, सामने आई हैरतंगज Love Story

कहते हैं प्यार में इंसान अंधा हो जाता है। जब वह किसी से सच्चा प्रेम करता है तो हर हाल में उसे हासिल करना चाहता है। उसके साथ अपना पूरा जीवन बिताना चाहता है। लेकिन जब समाज और परिवार इसमें बाधा उत्पन्न करते हैं तो वह अपना जीवन समाप्त भी कर लेता है। प्यार में अपनी जान देने वाले प्रेमी जोड़ों की कहानियां कोई नई नहीं है। आए दिन हमे प्रेमी जोड़े के आत्महत्या करने की खबरें मिलती रहती हैं। लेकिन आज हम आपको एक अलग कहानी बताने जा रहे हैं।

कुएं में मिला प्रेमी जोड़े का शव

यह दुखद प्रेम कहानी राजस्थान के अजमेर जिले की है। यहाँ मसूदा थाना क्षेत्र के शेरगढ़ गांव में उस समय हड़कंप मच गया जब करवा चौथ वाले दिन (13 अक्टूबर) कुएं में एक युवक युवती का शव मिला। दरअसल कुएं से बाहर ग्रामीणों को चप्पल और कड़ा मिला था। ऐसे में शंका के आधार पर उन्होंने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने कुएं में तलाशी ली तो उन्हें प्रेमी जोड़े का शव मिला।

एक दूसरे से थी मोहब्बत

मृत प्रेमी जोड़े की पहचान कार्तिक और अनची के रूप में हुई। अनची शेरगढ़ के रहने वाले सांवरमल की बेटी थी। उसकी उम्र 17 वर्ष थी। उसका ब्यावर के पास स्थित नुंद्री मेहंद्रान गांव में रहने वाले कार्तिक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। कार्तिक का शेरगढ़ में ननिहाल है। वह यहीं रहकर पढ़ाई कर रहा था। इसी दौरान उसे अनची से मोहब्बत हो गई।

परिवार वाले नहीं माने तो दे दी जान

कार्तिक और अनची का प्रेम इतना परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी के सपने सँजो लिए। लेकिन परिवार वाले इस शादी के खिलाफ हो गए। समाज के डर से उन्होंने इस शादी के लिए हामी नहीं भरी। फिर करवा चौथ के पहले अनची अचानक घर से गायब हो गई। उसके पिता ने थाने में कार्तिक के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर दिया। लेकिन उसे क्या पता था कि उसकी बेटी मर्जी से प्रेमी संग गई है और आत्महत्या कर ली है।

हाथ बांधकर साथ की जीवनलीला समाप्त

पुलिस ने परिजनों की मौजूदगी में कार्तिक और अनची के शव का पोस्टमार्टम करवाया। फिर शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया। थाना अधिकारी दिनेश जीवनानी बताते हैं कि प्रेमी जोड़ा एक दूसरे से बेहद प्रेम करता था। परिवार वाले इसके खिलाफ थे इसलिए दोनों एक दूसरे का हाथ बांधकर कुएं में कूद गए। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Back to top button
?>