अध्यात्म

नवरात्रि में गलती से उपवास टूट जाए तो डरे नहीं, बस तुरंत कर लें ये काम, सबकुछ हो जाएगा माफ

इन दिनों देश की हवा में माता रानी की भक्ति प्रवाहित हो रही है। शारदीय नवरात्रि को देशभर में बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर कोई माता रानी को प्रसन्न करने में लगा हुआ है। उन्हें खुश करने के लिए पूजा पाठ करने से लेकर गरबा और व्रत-उपवास भी कर रहा है। नवरात्रि में अधिकतर लोग 9 दिनों का उपवास रखते हैं। कुछ इन दिनों सिर्फ पानी और फल पर ही रहते हैं। वहीं कुछ एक समय भोजन कर लेते हैं।

मान्यता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा के नाम का व्रत रखने से वह प्रसन्न होती है। फिर हमारी हर मनोकामना माता के आशीर्वाद से पूर्ण हो जाती है। हालांकि पूरे 9 दिनों तक व्रत करना आसान नहीं होता है। कई बार गलती से ये व्रत टूट भी जाता है। हम जाने अनजाने में कुछ खा लेते हैं। या तबीयत खराब होने की वजह से मजबूरी में हमे उपवास तोड़ना पड़ता है।

अब जब 9 दिनों का यह उपवास बीच में कभी टूट जाए तो लोग घरबा जाते हैं। सोचते हैं अब हमे माता रानी का पाप लगेगा। उनका प्रकोप झेलना होगा। हमारे जीवन में दुख ही दुख आएंगे। कोई मनोकामना पूर्ण नहीं होगी। मान्यताएं ये भी कहती हैं कि व्रत टूटने से कुछ दोष भी लग जाते हैं। लेकिन माता रानी का दिल बहुत बड़ा है। यदि आप कुछ खास उपाय करें तो वह आपको आपकी गलती के लिए माफ भी कर देती हैं।

नवरात्रि में व्रत टूट जाए तो करें ये उपाय

1. यदि आपका व्रत नवरात्रि समाप्त होने से पहले ही गलती से टूट जाता है तो घबराइए नहीं। सबसे पहले मां दुर्गा के सामने हाथ जोड़कर उनसे माफी मांगे। उन्हें बताएं कि यह आप से गलती से हुआ है। इसके बाद आप घर में माता रानी के नाम का एक हवन करवा लें। ऐसा करने से मां दुर्गा आपको माफ कर देगी। फिर आपका व्रत पूर्ण माना जाएगा।

2. यदि नवरात्रि में आपसे उपवास टूट जाए तो आप मंदिर में मां की मूर्ति स्थापित करें। इस पूर्ति का दूध, दही, शहद, घी और शक्कर से पंचामृत बनाएं। फिर इससे मूर्ति का अभिषेक करें। साथ ही मां से अपनी गलती की क्षमा मांगे। यह उपाय आपके उपवास टूटने पर बहुत काम आता है। इससे आपकी सभी भूल चूक माफ हो जाती है।

3. नवरात्रि के जिस दिन आपका व्रत टूट जाए उसी दिन मां दुर्गा के सामने जाकर बैठ जाएं। फिर उनके मंत्रों का जाप करें। उनकी आरती करें। पूजा-अर्चना कर उनका दिल जीतें। माता रानी से कहें कि आप आगे से ऐसी कोई गलती नहीं करेंगे। व्रत गलती से टूट जाए तो बाकी के दिन आप से फिर से चालू रखें। इसे बंद ना करें।

4. व्रत टूटने पर आप किसी पुजारी से मिल सकते हैं। उससे नवरात्रि में होने वाले दान-पुण्य के बारे में पूछें। वह जैसा बताए वैसा दान करें। ऐसा करने से आपको व्रत टूटने के बाद कोई पाप या दोष नहीं लगेगा। आपके व्रत का महत्व बना रहेगा।

Back to top button
?>