विशेष

घर में हुआ बेटी का जन्म तो मालिक ने मुफ्त में बांटा पेट्रोल, 3 दिनों तक लगी रही ग्राहकों की भीड़

हमारे समाज में आम तौर पर घर में बेटी के जन्म पर जश्न नहीं मनाया जाता है। बेटियों को समाज के लोग आज भी एक बोझ की तरह देखते है और बेटे के जन्म पर बहुत कम लोग खुश होते है। वहीं बेटा पैदा होने पर खुशियां मनाई जाती है। मिठाईयां बांटी जाती है। जबकि यह किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं है।

बेटा हो या बेटी दोनों ही भगवान की देन है। तो भगवान की देन भला बोझ कैसे हो सकती है। नारी और नर दोनों ही इस संसार के दो पहिये है। गाड़ी किसी एक से नहीं बल्कि दोनों से चलनी है। ऐसे में दोनों की आवश्यकता है। एक दूसरे के बिना दोनों की गति नहीं है। तो भला बेटों के जन्म पर जश्न और बेटियों के जन्म पर समाज मौन क्यों ?

लेकिन आपको बता दें कि समय के साथइस तरह की सोच में बदलाव आया है। बीते दिनों एक मामला काफी सुर्ख़ियों में रहा था जहां एक गुप्ता परिवार के घर कई दशकों के बाद बेटी ने जन्म लिया था तो परिवार बेटी को अस्पताल से घर बैंड बाजे की थाप पर लाया थ। बिटिया रानी के लिए पालकी सजाई गई थी। लोग नाचते गाते नवजात को खुशी में झूमते हुए घर लाए थे जबकि अब ऐसा ही एक और मामला हम आपको बता रहे है।

free petrol

बात थोड़ी पुरानी है लेकिन सच है। बेटी के जन्म पर पेट्रोल पंप मालिक ने ग्राहकों को मुफ्त में पेट्रोल बांटा। तो क्या आपने कभी देखा और सुना है बेटी के जन्म पर इस तरह का अनोखा जश्न। आप कहेंगे नहीं। तो आइए आपको बताते है विस्तार से कि आखिर बात कहां की है। बात है मध्य प्रदेश के बैतूल जिले की।

मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में राजेंद्र सैनानी (Petrol pump owner named Rajendra Sainani) नाम के पेट्रोल पंप मालिक ने एक बड़ा ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि परिवार में पुत्री होने की खुशी में फ्री पेट्रोल बांटा जाएगा। उन्होंने जो कहा वो करके भी दिखाया था। यह मामला बैतूल में काफी सुर्ख़ियों में रहा था। उनके पेट्रोल पंप पर पेट्रोल लेने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ी थी।

petrol

बैतूल जिले में राजेंद्र सैनानी पेट्रोल पंप पर तीन दिनों तक ग्राहकों को मुफ्त में पेट्रल दिया गया था। तीनों दिन दो अलग-अलग शिफ्ट में दो-दो घंटे ग्राहकों में निःशुल्क पेट्रोल वितरित किया गया था। लोगों ने भी पेट्रोल पंप मालिक के इस नेक कार्य के लिए जमकर सराहना की थी। बता दें कि पेट्रोल पंप संचालक राजेन्द्र सैनानी ने अपने दिवंगत बड़े भाई गोपालदास सैनानी की पुत्री शिखा के मां बनने पर यह नेक कार्य किया था।

petrol

बता दें कि शिखा जन्म से ही मूक बधिर है। राजेंद्र सैनानी शिखा के चाचा है। बड़े भाई के निधन के बाद एक पिता की भांति राजेंद्र ने शिखा की जिम्मेदारी ली और उसकी शादी भी करवाई। वहीं जब शिखा ने बैतूल के एक अस्पताल में बेटी को जन्म दिया तो खुशी में राजेंद्र ने मुफ्त में पेट्रोल वितरित किया।

Back to top button