अध्यात्म

अगर आज आपने भूल से देख लिया चाँद तो करें ये उपाय, बचेंगे कलंक से

आज भगवान गणेश का ख़ास दिन है। हिन्दू मान्यता के अनुसार आज के दिन गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाता है। आज भगवान गणेश की पूजा अर्चना की जायेगी। भारतीय संस्कृति में किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत ने सबसे पहले भगवान गणेश की आरधना की जाती हैकोई भी पूजा अर्चना, देव पूजन, यज्ञ, हवन, गृह प्रवेश या अन्य कोई अनुष्ठान हो सबसे पहले गणेश वंदना ही की जाती है।

आज के दिन चन्द्र दर्शन किया गया है वर्जित:

श्री गणेश की आराधना के बाद किसी भी कार्य की शुरुआत करने से हर काम के सफल होने की पक्की गारंटी होती है। ऐसा केवल मैं नहीं कह रहा यह हिन्दू धर्म शास्त्रों में लिखा गया है। गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की पूजा करने से जीवन में आने वाली सभी विघ्न-बाधाओं का अंत हो जाता है। लेकिन आज के दिन चाँद के दर्शन करने से माना किया गया है। आज चाँद का दर्शन करने पर घातक परिणाम भुगतने पड़ते हैं। अगर आपने भूलवश चाँद के दर्शन कर लिए हैं तो ये उपाय करें ये आपको कलंक से बचायेंगे।

कलंक से बचने के लिए अपनाएँ ये उपाय:

*- भूलवश चाँद देखने के बाद अपने पड़ोसी की छत पर एक पत्थर फेंक दें।

*- ऐसा हो जाने पर भागवत की स्यमंतक मणि की कथा सुने या हो सके तो इसका पाठ करें।

*- कोई आईना लेकर उसमें अपनी छवि देखें और बाद में उसे किसी बहते हुए पानी में बहा दीजिये।

*- चाँद देख लेने पर 21 अलग-अलग पौधों की पतीयाँ तोड़कर अपने पास रख लीजिये, इससे आप कलंक से मुक्त हो जायेंगे।

*- मौली में 21 दूर्वा बाँधकर मुकुट बनायें। इस मुकुट को गणपति मंदिर में ले जाकर गणपति के सर पर रख दें।

*- आज शाम को अपने किसी बहुत करीबी व्यक्ति को भला-बुरा कहें और सुबह उठकर उनसे इसके लिए माफ़ी माँग लें।

*- इस मंत्र का 21 बार जाप करें-

सिंहः प्रसेनमवधीत् सिंहो जांबवता हतः। सुकुमारक मा रोदीस्तव ह्येष स्यमन्तकः।।

*- रात के समय अपने मुँह को जमीन की तरफ करके आँखें बंद करके चाँद को आईना दिखाएँ और उस आईने को किसी चौराहे पर ले जाकर फेंक आयें।

*- गणेश जी की किसी प्राण प्रतिष्ठित मूर्ति पर 21 लड्डुओं का भोग लगायें और 5 लड्डू वहीँ छोड़कर बाकी के लड्डुओं को ब्राह्मणों में बाँट आयें।

Back to top button
?>