समाचार

मैं मोदी को क्रूर समझता था, लेकिन वह अच्छे इंसान निकले – पूर्व कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद

जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम गुलाम नबी आजाद इन दिनों काफी चर्चा में हैं। जब से उन्होंने कांग्रेस पार्टी छोड़ी है तब से पार्टी के लोग उन पर कई सवाल और आरोप लगा रहे हैं। इस बीच आजाद का कांग्रेस नेताओं को करारा जवाब आया है। साथ ही उन्होंने मोदी की तारीफ भी की है।

कांग्रेस को लिया आड़े हाथ

‘आपका रिमोट बीजेपी के हाथ में है।’ इस टिप्पणी पर गुलाम नबी आजाद ने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि “जब घरवालों को लगे कि उन्हें आपकी जरूरत नहीं है, और वह घर छोड़ने पर मजबूर कर दें तो अक्लमंदी इसी में है कि आप भी अपना घर छोड़ दें। राहुल गांधी अपनी स्पीच खत्म करने के बाद भरी सदन में उनसे (PM से) गले मिले थे। तो वे मिले हैं या मैं मिला हूं?”

पीएम मोदी की तारीफ में बोले कई शब्द

गुलाम नबी आजाद ने राज्‍यसभा से विदाई के दौरान मोदी के भावुक होने और उनका जिक्र करने पर भी बात की। आजाद बोले – वो (मोदी) मेरे लिए नहीं रोए कि गुलाम नबी जाएगा… उन्होंने तो बस एक घटना का जिक्र किया। मैं तो समझता था कि मोदी बड़े क्रूर (असभ्य) आदमी हैं। शादी नहीं की, बच्चे नहीं है बीवी नहीं है तो उन्हें कोई परवाह नहीं है। लेकिन शुक्र मनाइए कि उन्होंने कम से कम इंसानियत तो दिखाई।

आजाद ने आगे कहा – जब मैं कांग्रेस में सीएम था तब एक बार गुजरात की टूरिस्‍ट बस में ग्रेनेड ब्‍लास्‍ट हुआ था। कई लोग मौके पर ही मर गए। किसी के हाथ नहीं थे तो किसी के पैर। तब गुजरात सीएम का फोन आया तो मैं जोर-जोर से रो रहा था। मेरे दफ्तर के लोगों ने मेरे कान में फोन लगा दिया। मैंने कहा कि अभी बात नहीं कर सकता। तब उन्होंने मेरे रोने की आवज सूनी थी।

कांग्रेस को मुझ से है खुन्नस

आजाद आगे कहते हैं कि मोदी तो बस बहाना है। जब G23 चिट्ठी लिखी थी तब से ही कांग्रेस को मुझ से दिक्कत है। वे नहीं चाहते कि कोई उनके बारे में लिखे, उन पर उंगली उठाए या उनसे सवाल पूछे। कांग्रेस की कई बैठके हुई, लेकिन उन्होंने एक भी सुझाव नहीं लिया। बता दें कि आजाद बीजेपी में शामिल होने की बात से भी इनकार कर चुके हैं। वे जम्मू कश्मीर में खुद की पार्टी बनाकर फिर से वापसी करना चाहते हैं।

जयराम रमेश के DNA वाले सवाल पर आजाद बोले – पहले वह (जयराम रमेश) अपना DNA चेक करवाएं। वह कहां के हैं? किस पार्टी से हैं? वह पहले देखें कि उनका DNA किस पार्टी का है। इन बाहर के लोगों को कांग्रेस का अता-पता नहीं है। यदि चापलूसी और ट्वीट पद हासिल करने वाले हम पर आरोप लगाएंगे तो हम दुख होगा ही।

आजाद ने कांग्रेस के लिए ये भी कहा कि उन्हें अब दुआ की नहीं दवा की जरूरत है। अभी उनका डॉक्टर कंपाउंडर है। जबकि उन्हें स्पेशलिस्ट की जरूरत है। आप नवाब आजाद की कही सारी बातों को यहां सुन सकते हैं।


यहां देखें कैसे गुलाम नबी आजाद की विदाई में भावुक हुए थे मोदी

 

Back to top button
?>