स्वास्थ्य

रीठा से केवल मजबूत बाल ही नहीं, बल्कि मिलते हैं ये हैरान कर देने वाले फायदे, जानें

रीठा हमेशा से ही भारत में औषधि के रूप में किया जाता रहा है। यह एक तरह का फल होता है, जिसका इस्तेमाल सुखाकर किया जाता है। हमेशा से ही इसे प्राकृतिक साबुन, डिटरजेंट और शैम्पू के रूप इस्तेमाल किया गया है। बाजार में साबुत रीठा और रीठा पाउडर बहुत ही आसानी से मिल जाता है। यह बालों को प्राकृतिक रूप में काला करने और मजबूती प्रदान करने का काम करता है। benefits of reetha.

सेहत सम्बन्धी समस्याओं को भी दूर करता है रीठा:

लेकिन रीठा केवल इसी काम में उपयोग नहीं किया जाता है। रीठा कई सेहत सम्बन्धी समस्याओं को भी आसानी से दूर करता है। आज हम आपको रीठा के कुछ अद्भुत फायदों में बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर यक़ीनन आप हैरान हो जायेंगे।

इन कामों में भी उपयोग होता है रीठा:

*- माइग्रेन:

माइग्रेन सर दर्द की भयानक बीमारी है। माइग्रेन पीड़ितों के आधे सर में भयानक दर्द होता है। कई बार यह दर्द सहना मुश्किल हो जाता है। रीठे का इस्तेमाल करके इस भयानक दर्द से मुक्ति पायी जा सकती है। सबसे पहले रीठा पावडर लेकर उसमें थोड़ी काली मिर्च मिलायें और अब उसमें थोड़ा पानी भी मिला दें। इस घोल की 4-5 बूँद अपने नाक में डालें, कुछ ही समय में माइग्रेन के दर्द से आराम मिलेगा।

*- अस्थमा:

अस्थमा के मरीज हो साँस लेने में काफी परेशानी होती है। प्रदूषण की वजह से अक्सर वह खाँसी-जुकाम से पीड़ित रहते हैं। 5 ग्राम रीठा पाउडर लेकर उसमें 250 एमएल पानी मिलाकर उसे गर्म करके काढ़ा बना लें। दिन में इस काढ़े का कम से कम 2-3 बार सेवन करें, जल्द ही आपको इस रोग से मुक्ति मिल जाएगी।

*- दांत दर्द:

जी हाँ दांत दर्द को ठीक करने में भी रीठे का इस्तेमाल किया जाता है। रीठे के बीजों को तवे पर भून लें। उतनी ही मात्रा में फिटकरी लेकर उसे साथ में पीस लें। अब इस पाउडर को अपने दाँतों पर लगायें, काफी आराम मिलेगा।

*- बाबासीर:

बाबासीर एक बहुत पीड़ादायक बिमारी है। बाबासीर के पीड़ितों को मल के साथ खून आता है। आधा लीटर पानी लेकर उसमें रीठा पाउडर डालकर पकाएं। पानी जब ठंढा हो जाये तो आधे कप पानी लेकर पिएं। हर रोज इस पानी का सेवन करने से कुछ ही समय में बाबासीर की समस्या में छुटकारा मिल जाता है।

*- अनियमित माहवारी:

अनियमित माहवारी की समस्या से ग्रसित हैं तो चिंता छोड़ दें और रीठे का इस्तेमाल शुरू कर दें। 2 ग्राम रीठा पाउडर लेकर उसमें थोड़ा शहद मिलायें और इसका सेवन करें। इससे अनियमित माहवारी की समस्या से निजात मिलेगा। माहवारी के दौरान होने वाले दर्द से भी छुटकारा मिलेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close