राजनीति

चाइनीज़ प्रोडक्ट के खिलाफ मोदी सरकार ने लिया ये बड़ा एक्शन जिस से चीन में मची खलबली

नई दिल्ली – डोकलाम विवाद के बीच मोदी सरकार ने बार-बार युद्ध की धमकी दे रहे चीन के मुंह पर ‘इकोनॉमिकल थप्पड़’ जड़ दिया है। दरअसल, मोदी सरकार ने चीन को सबक सिखाने के लिए 93 चीनी उत्पादों पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगा दिया है। जिसके बाद ऐसी उम्मीद है कि भारत और चीन के बीच ट्रेड वार शुरू हो जाएगा। इसी मामले पर ग्लोबल टाइम्स में छपे एक लेख में लिखा गया है कि चीन को अब भारत में निवेश करने से पहले संभावित खतरों के बारे में भी सोचना होगा। ban on china products.

मोदी सरकार ने चीन के खिलाफ लिया है ये एक्शन  

भारतीय वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार, ‘मोदी सरकार ने पिछले बुधवार को 93 चीनी प्रोडक्ट्स पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगाने का फैसला किया है, जिसके बाद से भारत और चीन के बीच ट्रेड वार शुरू शुरू हो गया है।’ चीनी मीडिया में छपे लेख में कहा गया है कि भारत अगर चीन के साथ ट्रेड वॉर करता है तो इससे चीन की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ भारत को भी नुकसान होगा। चीन के कई प्रोडक्ट्स के विकल्प भारतीय बाजार में अभी तक उपलब्ध नहीं हैं।

भारत-चीन के बीच शुरू हुई ट्रेड वार

मोदी सरकार के इस फैसले के बाद लेख में कहा गया है कि इसके भारत को भी गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। चीन के वाणिज्य मंत्रालय से प्राप्त डेटा का ध्यान दिलाते हुए चीनी मीडिया में ये भी लिखा गया है कि भारत से चीन को होने वाला निर्यात सालाना आधार पर 12.3 फीसदी से गिरकर 11.75 अरब डॉलर पर आ गया है। भारत का आयात 2 फीसदी बढ़कर 59 अरब डॉलर पर पहुंच गया है।

एंटी डंपिंग ड्यूटी क्या है?  

आपको बता दें कि एंटी डंपिंग ड्यूटी एक तरह का टैक्स है, जिसे कोई देश विदेशी कंपनियों पर लगाता है। यह टेक्स उस देश द्वारा उन विदेशी कंपनियों पर लगाया जाता है, जो अपने प्रोडक्ट को किसी अन्य देश में प्रोडक्ट की औसत कीमत से भी कम में बेचती हैं। जैसा कि सभी को मालूम है कि चीनी प्रोडक्ट के दाम भारतीय कंपनियों के प्रोडक्ट की तुलना में काफी कम हैं, इसीलिए मोदी सरकार ने चीन के 93 प्रोडक्ट पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगा दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close