भारत के स्वतंत्रता दिवस पर डोनाल्ड ट्रम्प ने फोन करके दी पीएम मोदी को बधाई

नई दिल्ली: आज पुरे भारत में हर्षोल्लास का माहौल है। हो भी क्यों ना आज भारत अपना 71 स्वतंत्रता दिवस जो माना रहा है। आज ही के दिन भारत को 1947 में अंग्रेजों से आजादी मिली थी। इस आज़ादी को पाने के लिए कई देशभक्तों और स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। ऐसे में भारत के लिए स्वतंत्रता दिवस के मायनें कुछ ख़ास होते हैं।

अन्य देशों को जहाँ आसानी से आजादी मिल गयी थी, उनके लिए स्वतंत्रता दिवस का उतना महत्व नहीं होता है। भारत पर अंग्रेजों ने लगभग 250 सालों तक राज किया। भारतीय जनता के साथ अपने हिसाब से व्यवहार करते थे। लोगों को कुछ भी अपने मन से करने की आजादी नहीं थी। यहाँ तक कि उन्हें बोलने की भी आजादी नहीं थी। जो स्वतंत्र रूप से बोलता था, उसे जेल हो जाती थी।

लाठी से कर दिया अंग्रेजों की नाक में दम:

उस समय 1857 में कुछ क्रांतिकारियों ने क्रान्ति का बिगुल फूंका, हालांकि उस समय हुई क्रांति में कई लोगों ने अपनी जान गँवा दी, लेकिन भारत को अंग्रेजों से मुक्ति नहीं मिली। उसके बाद भारत में महात्मा गाँधी का समय आया। उनके पीछे-पीछे चलने वाले बहुत लोग थे। गाँधी जी ने अपने लाठी के दम पर अंग्रेजों की नाक में दम कर दिया। आख़िरकार सबके प्रयास के बाद अंग्रेजों को भारत छोड़कर जाना ही पड़ा।

पुरे देश में मनाई गयी स्वतंत्रता दिवस की ख़ुशी:

भारत में 15 अगस्त 1947 के बाद से हर साल आज के दिन स्वतंत्रता दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन सभी जगह तिरंगा झंडा फहराकर आजादी की सालगिरह मनाई जाती है। सभी सरकारी संस्थानों, सभी स्कूलों और अन्य जगहों पर झंडा फहराकर स्वतंत्रता दिवस की ख़ुशी मनाई जाती है। आज पीएम मोदी ने लाल किले पर झंडा फहराकर देश का 71 वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाया।

पीएम मोदी ने ट्वीट करके दी जानकारी:

आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से फोन पर बात की और उन्हें भारत के 71 वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई दी। पीएम मोदी ने यह जानकारी अपने ट्वीट के जरिये दी है। पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रम्प से मिली बधाई के लिए ट्वीट करके उनका आभार व्यक्त किया। ट्रम्प कई बार भारत को अपना अच्छा दोस्त बता चुके हैं। पीएम मोदी को उन्होंने देश का सबसे ताकतवर पीएम बताया है।

Share this

Leave a Reply

Your email address will not be published.