बॉलीवुड

रवीना से अंकिता तक, इन एक्ट्रेस के साथ इंडस्ट्री में हुई गंदी हरकत, एक ने कहा- आपको साथ सोने..’

बॉलीवुड अभिनेत्रियों के साथ कई बार काम के सिलसिले में गलत तरह की मांग की जाती है. फिल्म इंडस्ट्री के भीतर की सच्चाई के बारे में अब तक टीवी और बॉलीवुड की कई एक्ट्रेस ने बात की है. आज हम आपको पांच ऐसी ही अभिनेत्रियों के बारे में बताने जा रहे हैं.

अंकिता लोखंडे…

मशहूर टीवी अभिनेत्री अंकिता लोखंडे ने एक साक्षात्कार में अपने साथ हुई गंदी हरकत पर कहा था कि, मैं 19-20 साल की थीं, एक कमरे में अकेले बैठी थीं. मैंने प्रोड्यूसर के आदमी से खुद पूछा था कि प्रोड्यूसर किस तरह का कॉम्प्रोमाइज चाहिए, ‘क्या मुझे डिनर पर जाना पड़ेगा?’ इस पर जवाब मिला ‘हां’. इसके बाद एक्ट्रेस ने कहा कि, ‘आपके प्रोड्यूसर को एक ऐसी लड़की चाहिए जो आपके साथ सोए, न कि वो जो टैलेंटेड हो’.

प्राची देसाई…

प्राची देसाई भी मशहूर टीवी अदाकारा हैं. प्राची को फिल्मों के ऑफर के बदले कई बार गंदे ऑफर दिए गए. वे कहती है कि उन्हें कई बड़ी फिल्मों का हिस्सा बनने के लिए कुछ ऐसे सीधे प्रस्ताव आए हैं जिनके लिए हामी भरने के बाद ही उन्हें फिल्म ऑफर होती. कई बार मेकर्स ने इसके लिए दबाव भी बनाया.

मल्लिका शेरावत…

मल्लिका शेरावत की छवि फिल्म इंडस्ट्री में एक बोल्ड अभिनेत्री की है. उन्होंने अपनी फिल्मों में गजब के इंटीमेट सीन दिए है. कई बार उन्हें उनके को एक्टर्स ने किस करने के लिए कहा. साथ ही यह भी कहा कि जब वो कैमरा पर उन्हें kiss कर सकती हैं तो ऑफ-कैमरा क्यों नहीं. एक्ट्रेस के मुताबिक़ कई बार इंडस्ट्री में उनका गलत फायदा उठाने का प्रयास किया गया.

राधिका आप्टे…

हिंदी सिनेमा की कई फिल्मों में काम कर चुकी 36 वर्षीय अभिनेत्री राधिका आप्टे भी इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच का शिकार हो चुकी हैं. उन्होंने बताया था कि उन्हें एक फोन आया था. फोन करने वाले शख्स ने उनसे कहा कि, ‘हम बॉलीवुड में एक फिल्म कर रहे हैं और आपसे मीटिंग करना चाहते हैं. लेकिन क्या आप जिससे मीटिंग करेंगी, आप उस इंसान के साथ सोने में कम्फर्टेबल होंगी?’. अभिनेत्री ने गुस्से में उस शख्स को कहा भाड़ में जाओ.

रवीना टंडन…

raveena tandon

अब बात करते हैं 90 के दशक की मशहूर और खूबसूरत बॉलीवुड अदाकारा रवीना टंडन की. उन्होंने बताया था कि मुझे इंडस्ट्री में ‘बदतमीज’ का लेबल दे दिया गया था क्योंकि मैं कभी वो नहीं करती थीं, ‘जो उनसे हीरो करने को कहते थे’, मैं तब नहीं हंसती थीं जब हीरो कहता था या उनके कहने पर उठती-बैठती नहीं थीं.

Back to top button