पुराने ज़माने की इस मशहूर अभिनेत्री को पैसों की वजह से खानी पड़ी थी दर-दर की ठोकरें…

आज बॉलीवुड में कई ऐसी अभिनेत्रियां हैं जिन्हें लोग उनके ज़बरदस्त अभिनय के लिए जानते हैं. पर पुराने ज़माने की अभिनेत्रिओं का आज भी कोई मुक़ाबला नहीं है. कुछ सेलेब्रिटीज़ तो ऐसे रहे हैं  जिन्होंने शुरुआत में तो बहुत नाम कमाया. फिर धीरे-धीरे दुनिया की चका-चौंध में खो गए. कुछ अपने निजी रिश्तों की वजह से गुमनामी की ज़िंदगी जीने लगे तो कुछ आर्थिक तंगी में उलझकर रह गए. आज हम पुराने ज़माने की ऐसी ही एक ख़ूबसूरत अभिनेत्री के बारे में बात करने जा रहे हैं. इस अभिनेत्री का नाम है पूर्णिमा. पूर्णिमा 40 और 50 के दशक की मशहूर हीरोइन थी.

कौन थी पूर्णिमा

हो सकता है आपने पूर्णिमा का नाम पहली बार सुना हो. पर यह नाम एक ज़माने में बहुत मशहूर था. हम आपको बता दें कि पूर्णिमा का रिश्ता बॉलीवुड के दो बड़े कलाकारों के साथ भी है. बॉलीवुड में  ‘सीरियल किसर’ के नाम से मशहूर इमरान हाशमी की दादी थीं पूर्णिमा. इतना ही नहीं, मशहूर डायरेक्टर महेश भट्ट की आंटी भी. अपने करियर में पूर्णिमा ने कई सुपरहिट फिल्में दी. जोगन, पतंगा, सगाई, जाल और औरत उनकी हिट फिल्में थी. करियर अच्छा चलने के बावजूद भी उन्होंने जल्दी शादी करने का फैसला लिया और फिर शादी के बाद फिल्मों में काम करना छोड़ दिया.

शादी के बाद पूर्णिमा अपनी घर-गृहस्ती में बिजी हो गयीं. उनकी शादीशुदा जिंदगी अच्छी चल रही थी. लेकिन कहते हैं ना वक़्त से बड़ा कोई नहीं होता. वक़्त के आगे सबको हार मानना ही पड़ता है. कुछ ऐसा ही हुआ इस अभिनेत्री के साथ. धीरे-धीरे उनके परिवार की हालत ख़राब होने लगी. आर्थिक तंगी इतनी बढ़ गयी की उन्हें अपना बंगला तक बेचना पड़ा. यह बात पूर्णिमा ने अपने एक इंटरव्यू के दौरान कही थी. उनका फ़िल्मी करियर 38 साल का रहा और इस दौरान उन्होंने तकरीबन 200 से भी ज़्यादा फिल्मों में अभिनय किया. बीते साल 2013 में पूर्णिमा का देहांत हो गया.