मुख्य समाचार

गोरखपुर हादसा : योगी आदित्यनाथ की आंखों में भर आए आंसू, कहा – फर्जी रिपोर्टिंग न करे मीडिया

गोरखपुर गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कथित तौरपर ऑक्सीजन खत्म होने से अबतक 60 से ज्यादा बच्चों की मौत हो चुकी है। ये सभी बच्चे एनएनयू वार्ड और इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती थे। यह घटना 9 अगस्त की शाम को हुई। जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां का दौरा किया। अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कि जिस दौरान वो भावुक हो गए। Yogi emotional on Gorakhpur tragedy.

प्रेस कांफ्रेस के दौरान भावुक हुए योगी

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आदित्यनाथ सीएम की आंखों में आंसू आ गए लेकिन उन्होंने खुद को संभालते हुए कहा कि बच्चों की मौत के पीछे ऑक्सीजन की कमी वजह नहीं है। उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली कंपनी की भूमिका और अन्य कमियों की जांच के लिए मुख्य सचिव के अधीन एक समिति गठित की गई है।

 

मीडिया को नसीहत, फेक रिपोर्टिंग न हो

उत्तर प्रदेश के बाबा राघवदास मेडिकल कालेज गोरखपुर में पिछले तीन दिन में 60 से अधिक बच्चों की मौत के बाद रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां का दौरा किया। वार्ड का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने मीडिया को नसीहत देते हुए कहा कि इस मामले में फेक रिपोर्टिंग न हो। आप सभी वार्ड में जायें और वहां की वास्तविक स्थिति लोगों को बताये। मीडिया को बाहर ने नहीं बल्कि अदर जाकर रिपोर्टिंग करनी चाहिए। मीडिया को सही तथ्यों के आधार पर रिपोर्टिंग करनी चाहिए।

क्या है मामला?

गौरतलब है कि उत्‍तर प्रदेश के गोरखपुर में पांच दिनों के भीतर 60 से अधिक बच्‍चों की मौत हो गई है। इस मामले में दोषियों का पता लगाने के लिए सरकार ने जांच के आदेश भी दिए हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि 69 लाख रुपये का भुगतान मिलने की वजह से फर्म ने ऑक्सीजन की सप्लाई रोक कर दी थी। लेकिन, योगी आदित्यनाथ ने बच्चों की मौत के पीछे की असल वजह आक्सीजन की कमी नहीं बल्कि गंदगी और बिमारियों को बताया है।

Related Articles

Close