हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिंदी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल

गौतम का ‘गंभीर’ सवाल – आजादी के 70 साल बाद मंदिर-मस्जिद बनाना जरूरी या भूख मिटाना?

नई दिल्ली – देश जब स्वतंत्रता दिवस की 70वीं सालगिरह मनाने में व्यस्त है और इसी बीच मंगलवार को गौतम गंभीर ने एक तस्वीर ट्वीट कर मंदिर-मस्जिद बनाने को लेकर लड़ने वाले लोगों से सवाल किये हैं। गंभीर ने जो तस्वीर ट्वीट की है उसमें एक भूखा बच्चा दिखाई दे रहा है। उन्होंने इस तस्वीर के कैप्शन में लिखा है, ‘हम तेरे लिए कुछ नहीं कर सकते दोस्त, हमें तो अभी मंदिर-मस्जिद बनाने हैं।’ Gautam gambhir independence day tweet.

मंदिर और मस्जिद पर गौतम का ट्वीट हुआ वायरल

स्टार क्रिकेटर गौतम गंभीर ने स्वतंत्रता दिवस की 70वीं सालगिरह के मौके पर जो किया ट्वीट किया है वह कई सवाल खड़े करता है। गौतम ने ट्वीट के साथ एक तस्वीर भी शेयर की है जिसमें, एक भूखा बच्चा गंदगी से लिपटा हुआ बाल मजदूरी करते हुए दिखई दे रहा है। गौतम गंभीर ने इस तस्वीर के जरिए सवाल किया है कि, आजादी के 70 साल बाद भी मैं इस सवाल का जवाब ढूंढ़ रहा हूं कि मंदिर-मस्जिद बनाना जरूरी या भूख मिटाना?

गौतम कई बार पूछ चुके हैं ‘गंभीर’ सवाल  

गौरतलब है कि गौतम गंभीर ने कुछ दिनों पहले ही सुकमा में नक्सलियों के हमले में शहीद हुए जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने का ऐलान किया था। गौतम गंभीर आईपीएल कोलकाता टीम के कप्तान हैं और इस साल के आईपीएल सीरीज में उन्होंने मैन ऑफ द मैच के जरिए जो कुछ कमाया उसे उन्होंने सहयोग राशि के तौर पर दे दिया था। गौतम अक्सर लोगों ऐसे सवाल करते रहते हैं। उन्होंने कई बार देश और जवानों के लिए आवाज उठाई है।

मीरवाइज को दी थी पाकिस्तान जाने की सलाह

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान से भारत हार गया था। जिसपर अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने जश्न मनाया था। इसके बाद गौतम ने ट्वीट कर मीरवाइज से कहा था कि, ‘एक सलाह है मीरवाइज, तुम बॉर्डर क्यों नहीं पार कर जाते? वहां तुम्हें बढ़िया पटाखे (चाइनीज) मिलते। सामान बांधने में मैं तुम्हारी मदद कर सकता हूं।’ यह कोई पहली बार नहीं है कि जब गौतम ने इस प्रकार का ट्वीट किया हो।

DMCA.com Protection Status