स्वास्थ्य

रोज इतने मिनट करें स्विमिंग, कभी नहीं होगी दिल और ब्लड प्रेशर की बीमारी

भारत में बहुत कम लोगों को तैरना आता है। जिन्हें आता भी है वह भी रोज नियमित रूप से नहीं तैरते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तैरना (swimming Benefits) आपकी हेल्थ के लिए बहुत लाभकारी रहता है। खासकर इससे आपके दिल की सेहत (Heart health) हमेशा अच्छी रहती है। यदि आपको हार्ट से जुड़ी कोई समस्या है, या फिर आप लंबे समय तक अपने दिल को हेल्थी रखना चाहते हैं, तो रोज तैरना शुरू कर दीजिए।

तैरने से सिर्फ दिल ही तंदुरुस्त नहीं रहता। बल्कि इसे और भी फायदे हैं। जैसे तैरना आपकी हड्डियां मजबूत करता है, वजन कम करता है, मांसपेशियों को टोन करता है, शरीर कि पॉवर बढ़ाता है, आपका एनर्जी लेवर बढ़ाता है इत्यादि। तैरना एक तरह से एरोबिक एक्सरसाइज होती है। ये आपके दिल को पॉवर देने के साथ साथ ब्लड को पम्प कर उसकी दक्षता भी बढ़ाता है।

कहते हैं रोज 30 मिनट तैरने से दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा 30 से 40 फीसदी तक कम हो जाता है। तैरने से न सिर्फ आपका हाई ब्लड प्रेशर कम होता है, बल्कि गुड कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ता है। तो चलिए बिना किसी देरी के तैरने के और भी कई लाभ जान लेते हैं।

हार्ट रेट सुधारे

दिल शरीर की बाकी मांसपेशियों की तरह ही एक मसल्स होता है। ऐसे में आप इसका अधिक इस्तेमाल कर इसे और मजबूत बना सकते हैं। दिल हर धड़कन के साथ खून को पंप करने का काम करता है। इससे आपके सम्पूर्ण शरीर में रक्त का प्रवाह होता है।

यदि आपकी हार्ट बिट कम रहती है तो आपको दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम रहता है। एक सामान्य इंसान की लोअर रेस्टिंग हार्ट बीट 60-70 बीट प्रति मिनट होती है। जबकि तैराकों में ये 40 हार्ट बीट प्रति मिनट रहती है।

ब्लड प्रेशर कम करे

यदि आप रोज 30 मिनट स्विमिंग करें तो आप अपने हाई ब्लड प्रेशर को कम कर सकते हैं। दरअसल स्विमिंग भी एक एरोबिक व्यायाम है जिससे आपका दिल मजबूत बनता है। ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहेगा तो हार्ट की दिक्कत भी कम रहेगी। हफ्ते में 2.5 घंटे व्यायाम करना हार्ट के लिए सेहतमंद माना गया है।

लंबी-गहरी सांस लेने में आसानी

तैरने से सांस से जुड़ी दिक्कतें खत्म हो जाती है। एक तैराक सामान्य व्यक्ति की तुलना में ज्यादा लंबी और गहरी सांस ले सकता है। इसकी वजह ये है कि तैरने से शरीर की मांसपेशियां व हार्ट बीट बेहतर होती है। इससे आपके फेफड़े और अधिक क्षमता से काम करते हैं। मतलब आप जितना जेदा तैरते हैं उतना अधिक आपका दिल व सांस में सुधार आता है।

ब्लड सर्कुलेशन सुधारे

चुकी तैरने से हार्ट बीट सुधरती है, इसलिए शरीर में ब्लड की पर्याप्त मात्रा भी पहुँच जाती है। आसान शब्दों में कहे तो आपका ब्लड सर्कुलेशन पूरे शरीर में अच्छे से होता है। इससे हाथ पैर के सुन्न होने या झुनझुनी आने की समस्या नहीं रहती है।

Back to top button