कम नंबर आने पर शिक्षक ने छात्राओं के साथ की ऐसी शर्मनाक हरकत, जानकर खौल उठेगा आपका खून

रूड़की: भारत में शिक्षक को भगवान से भी ऊपर का दर्जा दिया गया है। शिक्षक ही होता है जो सबसे पहले भगवान के बारे में बताता है और भगवान तक कैसे पहुँचा जाए उसका मार्ग भी बताता है। शिक्षक व्यक्ति के जीवन को सँवारने का काम करता है। बिगड़े हुए लोगों के जीवन को बेहतर बनाता है। बच्चे हों या बड़े जीवन में शिक्षक की आवश्यकता सबको होती है। जरुरी नहीं है कि जो स्कूल में पढ़ाता हो वही शिक्षक हो।

हालांकि स्कूल में पढ़ाने वाले शिक्षक को भी भगवान का ही दर्जा दिया गया है। वह भी हमें ज्ञान देकर हमारा जीवन सँवारने का काम करते हैं। कई लोग ऐसे हैं जो शिक्षकों की वजह से आज कहाँ से कहाँ पहुँच गए। लेकिन अब समय बदल गया है। अब ना ही वैसे छात्र रहे और ना ही शिक्षक। पिछले कुछ सालों में शिक्षकों की ऐसी-ऐसी घटनाएँ सुनने को मिली हैं, कि शिक्षकों से विश्वास ही उठ गया है।

शिक्षक ने किया इंसानियत को शर्मसार:

हाल ही में एक शिक्षक ने मानवता को शर्मसार किया है। उसके बारे में जानकर यक़ीनन आपका रोम-रोम गुस्से से भर जायेगा। यह बात उत्तराखंड की है। वहाँ के लढौरा कस्बे के एक पब्लिक स्कूल के एक शिक्षक ने इंसानियत को शर्मसार किया है। दरसल शिक्षक ने कक्षा 6 की दो छात्राओं के टेस्ट में कम नंबर आने की वजह से उनके कपड़े उतरवा दिए।

परिजनों ने स्कूल पहुँचकर किया हंगामा:

जब पीड़ित छात्राओं ने शिक्षक की शिकायत स्कूल के प्रिंसिपल से की तो उन्होंने भी कोई कार्यवाई नहीं की और उल्टे छात्राओं को ही हड़काया कि यह बात अपने परिजनों को ना बताएं। जब छात्राओं ने शिक्षक की नापाक हरकत के बारे में अपने घरवालों को बताया तो घरवाले आग बबूला हो गए और स्कूल पहुँचकर जमकर हंगामा किया। परिजनों द्वारा किये जा रहे हंगामे की सुचना स्कूल प्रशासन द्वारा पुलिस को दे दी गयी।

दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ की जाएगी कार्यवाई:

मौके पर पहुँची पुलिस ने हंगामे को शांत करवाने का प्रयास किया। जब पुलिस ने परिजनों को शांत करवा लिया तो इस मामले में पुलिस को तहरीर दी गयी। जब यह मामला जॉइंट मजिस्ट्रेट मयूर दीक्षित के पास पहुँचा तो उन्होंने मामले की जाँच करके एक रिपोर्ट तलब की। मयूर दीक्षित ने बताया कि इस मामले में उनके द्वारा एक रिपोर्ट तलब की गयी है। रिपोर्ट के तथ्यों के आधार पर जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.