अध्यात्म

शनि की साढ़े साती से साढ़े 7 साल बाद आजाद हो रही ये राशि, लग जाएगी पैसों की झड़ी

शनि की साढ़े सती से हर कोई डरता है। शनि किसी भी राशि में ढाई साल रहते हैं। इसके बाद वे राशि परिवर्तन करते हैं। वर्तमान में शनि मकर राशि में विराजमान है। जल्द ही वे कुम्भ राशि में गोचर करेंगे। शनि इन दोनों ही राशियों के स्वामी ग्रह हैं। शनि जैसे ही कुम्भ राशि में जाएंगे तो कुछ राशियों के बुरे दिन शुरू हो जाएंगे तो कुछ को जीवन की कई परेशानियों से मुक्ति मिल जाएगी। इसमें एक राशि ऐसी भी है जिसके जीवन में सबसे अधिक सुख आएंगे।

24 जनवरी 2020 से शनि ग्रह मकर राशि में विराजित हैं। 29 अप्रैल 2022 को वे कुंभ राशि में जाना शुरू करेंगे। यहां वे करीब ढाई साल तक यानि 29 मार्च 2025 तक विराजित रहेंगे। इसके बाद वे मीन राशि में गोचर कर लेंगे। इसके अलावा 5 जून को शनि वक्री होने वाले हैं। फिर 12 जुलाई को वक्री अवस्था में अपनी पिछली राशि मकर में लौट जाएंगे।

धनु राशि को मिलेगा शनि की साढ़े सती से छुटकारा

धनु वह लक्की राशि है जिसे 29 अप्रैल 2022 को शनि की साढ़े साती से छुटकारा मिल जाएगा। शनि के दूर जाते ही इस राशि के अच्छे दिन स्टार्ट हो जाएंगे। धन की आवक बढ़ने लगेगी। चारों तरफ से पैसा ही पैसा आएगा। सुखद यात्रा हो सकती है। विदेश जाने के योग भी बन रहे हैं। यदि कहीं पैसा निवेश करना चाहते हैं तो ये समय उत्तम रहेगा।

धनु राशि के जातकों के शादी के योग भी बन रहे हैं। जो लोग अभी तक सिंगल हैं उनका रिश्ता जल्द ही कहीं तय हो जाएगा। परे प्रसंग के मामलों में भी सफलता मिलेगी। शादी का अच्छा प्रस्ताव मिलेगा। मनचाहे जीवनसाथी से मिलने के योग बन रहे हैं। वहीं जो लोग पहले से शादीशुदा हैं उनके वैवाहिक जीवन में खुशियां आएगी। घर में शांति का माहौल रहेगा। अपनों से प्रेम बढ़ेगा।

शुरू होंगे अच्छे दिन

शनि से मुक्ति मिलते ही आपके सभी रुके कार्य समय पर पूर्ण हो जाएंगे। आपकी मेहनत का उचित फल आपको मिलेगा। आप जिस भी काम में हाथ डालेंगे उसमें सफलता मिलेगी। अचानक धन की प्राप्ति के भी योग हैं। सेहत में सुधार आएगा। धार्मिक कार्यक्रमों में रुचि बढ़ेगी।

घर में कोई मांगलिक कार्य हो सकता है। नया बिजनेस स्टार्ट करने की सोच रहे हैं तो ये समय अच्छा रहेगा। व्यापार में बहुत मुनाफा होगा। छात्रों के लिए भी समय उत्तम है। वहीं पैसों की कोई किल्लत नहीं होगी। भाग्य हर मौड़ पर आपका साथ देखा। दुख और बुरी शक्तियां आप से दूर रहेंगी।

Back to top button