समाचार

देसी मुंडे पर आया जर्मनी की हसीना का दिल, भारत के गांव आकर लिए 7 फेरे, फिल्मी है Love Story

कहते हैं रिश्ते स्वर्ग में बनते हैं। ऊपर वाले ने हर किसी के लिए किसी न किसी को चुन रखा है। इसलिए जब दोनों का मिलन होना रहता है तो इसे कोई भी रोक नहीं पाता है। अब राजस्थान (Rajasthan News) के झुंझुनूं (JhunJhunun News Today) जिले के पिलानी कस्बे में हुई इस अनोखी शादी को ही ले लीजिए।

देसी मुंडे की दुल्हन बनी जर्मनी की दुल्हन

दरअसल इन दिनों सोशल मीडिया पर देसी दूल्हे और जर्मनी दुल्हन की शादी बड़ी वायलर हो रही है। दूल्हे का नाम कृष्ण कुमार है तो दुल्हन स्वेनिका है। अपने देसी दूल्हे से शादी रचाने को ये जर्मनी दुल्हन पूरे सात समंदर पार कर के आई है। उसने भारत में हिन्दू रीति रिवाजों से सात फेरे लेकर विवाह सम्पन्न किया।

हिन्दू रीति रिवाजों से की शादी

इस दौरान विदेशी दुल्हन स्वेनिका अपने मारवाड़ी दूल्हे कृष्ण के लिए देसी अंदाज में सजी-संवरी। उसने ईसाई धर्म की होने के बावजूद हिन्दू धर्म की शादी की सभी रस्में निभाई। इस दौरान दुल्हन चुनड़ी की छांव में वरमाला के लिए पहुंची दुल्हन का स्टाइल भी बड़ा शानदार था। उसने काला चश्मा लगाकर हिन्दी फिल्मों के गाने पर डांस भी किया।

दुल्हन का अंदाज देख खुश हुए मेहमान

कपल इस दौरान फुल देसी अंदाज में नजर आया। इनकी जोड़ी जिसने भी देखी उसने बाट तारीफ ही की। खासकर दुल्हन का देसी स्वैग हर किसी को पसंद आया। मेहमानों की निगाहें दुल्हन पर से हट ही नहीं रही थी।

ऐसे हुई मुलाकात

कृष्ण और स्वेनिका की लव स्टोरी भी बड़ी दिलचस्प है। पिलानी कस्बे में रहने वाले कृष्ण कुमार पृथ्वी एस बिश्नोलिया के बेटे हैं। वे बीते कुछ सालों से जर्मनी के लुगबैग में वैज्ञानिक के पद पर काम कर रहे हैं। इसी संस्थान में जर्मनी की रहने वाली स्वेनिका भी वैज्ञानिक पद पर काम करती हैं।

पहले कर ली थी कोर्ट मैरिज

कपल ने कुछ समय पहले ही जर्मनी में कोर्ट मैरिज की थी। फिर स्वेनिका ने अपने पति कृष्ण से भारतीय परंपरागत शादी और उसकी रस्मों के बारे में सुना। यह सुन वह उत्साहित हो गई और उसने हिंदू रीति रिवाजों से भी शादी रचाने की इच्छा जताई।

विदेशी दुल्हन के भैया भाभी ने किया कन्यादान

इस शादी के लिए स्वेनिका अपने भाई जोनस भाभी रकेल व अन्य रिश्तेदारों को लेकर भारत आई। यहां पिलानी कस्बे में दोनों पक्षों के परिवार ने हिंदी हिंदू रीति रिवाज से शादी पूरी की। इस दौरान स्वेनिका के भाई भाभी ने कन्यादान भी किया। इतना ही नहीं स्वेनिका शादी के अगले दिन पति कृष्ण संग मंदिरों में जोड़े से धोक भी दिए। अब यह पूरी शादी इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है।

Back to top button
?>