दिलचस्प

दुल्हन करती रही इंतजार, मंडप में 3 घंटे लेट पहुंचा दूल्हा..देरी की वजह जानते ही करने लगी तारीफ

भारत में इन दिनों शादी का माहौल चल रहा है। ऐसे में शादियों से जुड़ी कुछ दिलचस्प और अनोखी खबरें भी सामने आती रहती हैं। अब मध्य प्रदेश के छतरपुर का ये मामला ही ले लीजिए। यहां एक दुल्हन हाथों में मेहंदी लगाए मंडप में करीब तीन घंटे तक अपने दूल्हे राजा का इंतजार करती रही। हालांकि उसे ये इंतजार करना बिल्कुल भी नहीं अखरा, बल्कि जब दूल्हा तीन घंटे देरी से आया तो उसने उसकी तारीफ की।

तीन घंटे दूल्हे का इंतजार करती रही दुल्हन

दरअसल छतरपुर के कल्याण मंडप में बुंदेलखंड परिवार द्वारा सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किया गया था। इस दौरान एक साथ 11 जोड़े शादी के पवित्र बंधन में बंधते नजर आए। लेकिन इनमें एक जोड़ा ऐसा था जो मीडिया की सुर्खियों में आ गया। यहां दुल्हन प्रीति सेन मंडप में लगभग तीन घंटे अपने दूल्हे रामजी सेन का इंतजार करती रही। रामजी के देर से आने के पोंछे एक खास वजह थी।

शादी से पहले 10वीं की परीक्षा देने गया दूल्हा

दूल्हे रामजी का अपनी शादी वाले दिन 10वीं का सोशल साइंस का पेपर फंस गया था। ऐसे में उसने अपनी शादी से ज्यादा जरूरी इस पेपर को देना समझा। वह बीते एक वर्ष से मन लगाकर इसकी तैयारी कर रहा था। ऐसे में अपने जीवन की नई पारी शुरू करने से पहले उसने परीक्षा देकर अपना भविष्य सुधारणा सही समझा। इसलिए वह अपनी शादी के ठीक पहले परीक्षा देने चला गया।

दुल्हन ने की दूल्हे की तारीफ

दूल्हा तीन घंटे बाद जब परीक्षा देकर लौटा तो उसने प्रीति संग 7 फेरे लिए। उधर प्रीति को भी अपने दूल्हे का इंतजार करने में कोई दिक्कत नहीं हुआ। उसने भी दूल्हे की पढ़ाई को लेकर गंभीरता को सराहा। वह भी अच्छे से जानती है कि यदि दूल्हा ये परीक्षा नहीं देता तो उसका पूरा साल खराब हो जाता।

एक दिन में दी जीवन की दो अहम परीक्षाएं

इस घटना के बाद दूल्हा मीडिया की खबरों में छा गया। उसने मीडिया से कहा कि “आज मैंने अपने जीवन की 2 परीक्षाएं दी। पहली परीक्षा पढ़ाई की और दूसरी जिंदगी की। अब आशा है कि दोनों में मुझे सफलता मिलेगी।”

शादी कर बेहद खुश दिखे दूल्हा दुल्हन

बताते चलें कि छतरपुर के कल्याण मंडपम में बुंदेलखंड परिवार ने एक सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया था। इस दौरान 11 जोड़े एक साथ विवाह सूत्र में बंधे। वे सभी शादी के दौरान बहुत ही खुश दिखाई दिए। खासकर दूल्हे रामजी और दुल्हन प्रीति के चेहरे पर एक अलग ही खुशी थी।

Back to top button