अक्षय कुमार ने अपने बचपन के बारे में किया ऐसा खुलासा जानकर खिसक जाएगी आपके पैरो तले जमीन!

मुंबई: खिलाड़ी अक्षय कुमार के बारे में किसी को कुछ भी बताने की जरुरत नहीं है। इन्होने अपने जीवन की शुरुआत के फेरी वाले के रूप में की थी। वह आर्टिफिसियल ज्वेलरी खरीदकर बेचने का काम करते थे। उसके बाद वह थाईलैंड चले गए। वहाँ उन्होंने मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग ली और कुछ काम भी किया। इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में हाथ अजमाया और सफल हो गए। अक्षय कुमार ने जो कुछ भी जीवन में पाया है, वह अपने दम पर पाया है।

देशभक्त अभिनेता के रूप में उभरी है छवि :

वह किसी फ़िल्मी घराने से ताल्लुक नहीं रखते थे। उनकी सफलता के पीछे उनकी कड़ी मेहनत शामिल है। उन्होंने अपने जीवन में काम को सबसे ज्यादा महत्व दिया। तभी तो आज अक्षय कुमार बॉलीवुड के सबसे चर्चित अभिनेता हैं। आज देश के हर युवा की जुबान पर अक्षय कुमार का ही नाम रहता है। अक्षय कुमार जीतने बेहतरीन अभिनेता हैं, उससे कहीं ज्यादा बेहतरीन एक इंसान हैं। इंसानियत उनके अन्दर कूट-कूट कर भरी है।

वह समय-समय पर जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए भी आगे आते हैं। अक्षय कुमार के पिछले कुछ सालों में देशभक्ति की कई फ़िल्में की, इससे उनकी छवि एक देशभक्त अभिनेता के रूप में बनकर उभरी है। युवा उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। अक्षय कुमार हमेशा मुस्कुराते हुए ही दिखाई देते हैं। अक्षय कुमार ह्यूमन ट्रैफिकिंग पर आयोजित एक इंटरनेशनल कांफ्रेंस में हिस्सा ले रहे थे।

बचपन में हो चुके हैं सेक्सुअल एब्यूज का शिकार:

उस दौरान उन्होंने अपने बचपन के बारे में ऐसी बात बताई, जिसे सुनकर सभी लोगों के होश उड़ गए। जी हाँ दरअसल अक्षय कुमार ने बताया कि बचपन में वह सेक्सुअल एब्यूज का शिकार हो चुके हैं। अक्षय कुमार ने बताया कि जब वह छोटे थे तो एक लिफ्टमैन ने उन्हें गलत तरीके से छूने की कोशिश की थी। अक्षय कुमार अपने माता-पिता से खुलकर बात करते थे। उन्होंने इसके बारे में अपने माता-पिता को बताया।

बाद में पता चला कि वह व्यक्ति इस तरह के कई और कार्यों में संलिप्त था, जिसके चलते बाद में वह पकड़ा भी गया। अक्षय कुमार ने बताया कि आज के समय में ऐसी घटनाएँ बढ़ती जा रही हैं। बच्चों के साथ कुछ लागत होता है तो वह खुलकर किसी से बात भी नहीं कर सकते हैं इसके लिए सबसे ज्यादा जरुरी है कि इसके बारे में पैरेंट्स बच्चों को सचेत करें और खुलकर बोलना सिखाएं। उन्होंने कहा कि यह बहुत जरुरी है कि बच्चों को इसके बारे में पता हो ताकि सेक्सुअल एब्यूज को रोका जा सके।