अध्यात्म

क्या आप जानते हैं कि हनुमान जी की पूजा मंगलवार को क्यों की जाती है? नहीं तो जानिए !

हिन्दू धर्म में हनुमान जी की पूजा का बहुत ज्यादा महत्व है। जीतने भी पुरुष पहलवानी करते हैं या अखाड़े में लड़ते हैं, वह बजरंगबली की पूजा मुख्य रूप से करते हैं। हनुमान जी को बल ब्रह्मचारी कहा जाता है। इसीलिए हनुमान जी काफी बलशाली देवता माने जाते हैं। प्रभु श्रीराम के भक्त हनुमान जी के बारे में यह भी कहा जाता है कि वह अपने भक्तों की पुकार कलयुग में सबसे पहले सुनते हैं।

हनुमान जी की पूजा उनके भक्त किसी भी दिन करते हैं, लेकिन मुख्य रूप से हनुमान जी की पूजा मंगलवार और शनिवार को की जाती है। मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति भी होती है। मंगलवार के दिन को हनुमान जी का दिन कहा जाता है। इस दिन सभी हनुमान मंदिरों में सिंदूर और लड्डू चढ़ाकर हनुमान जी की विशेष पूजा की जाती है। ऐसा करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं।

मंगलवार के दिन जन्में थे महाबली हनुमान:

मंगलवार को हनुमान जी का दिन इसलिए माना जाता है क्योंकि हनुमान जी का जन्म मंगलवार के दिन ही हुआ था। इसीलिए हनुमान जी के भक्त उनकी पूजा मंगलवार को करते हैं। मंगलवार को हनुमान जी की पूजा करने से व्यक्ति को सभी प्रकार की परेशानियों और दुखों से मुक्ति मिल जाती है। हनुमान जी की पूजा करते समय साफ़-सफाई का खतौर पर ध्यान रखें। रामभक्त हनुमान को सफाई काफी पसंद है।

इस तरह करें हनुमान जी की पूजा:

प्रत्येक मंगलवार के दिन हनुमान जी को चोला, सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाना चाहिए। चमेली का तेल और सिंदूर हनुमान जी को काफी प्रिय है, इसलिए वह जल्दी प्रसन्न ही हो जाते हैं। मंगलवार को आप सुबह स्नान आदि करके पेड़ का एक पट्टा तोड़कर इसे अच्छे से साफ़ पानी से धो लें। इस पत्ते पर केसर से श्रीराम लिखकर हनुमान जी के समक्ष रखें। इसके बाद इस पत्ते को अपने पर्स में रखें।

ऐसा करने से जीवन में आपको कभी भी धन की कमी नहीं होगी। जब यह पत्ता पूरी तरह सुख जाए तो इसी तरह से दूसरा पत्ता चढ़ाकर अपने पर्स में पुनः रखें। जिस व्यक्ति की जन्मकुंडली में मंगल भारी होता है, उसे इस दिन लाल मसूर की दाल किसी जरुरतमंद व्यक्ति को दान करना चाहिए। इससे मंगल दोष दूर हो जाता है।

भगवान शिव का अवतार हैं हनुमान जी:

हनुमान जी को महारुद्र भगवान शंकर का अवतार माना जाता है। इसलिए कहा जाता है कि अगर आप दोनों देवताओं का आशीर्वाद एक साथ पाना चाहते हैं तो मंगलवार के दिन शिवलिंग पर फूल अर्पित करें। ऐसा करने से आपका मंगल दोष भी ख़त्म हो जाता है। मंगलवार के दिन शाम के समय हनुमान जी के समक्ष दीपक जलाकर हनुमान चालीसा का पाठ करना ना भूलें। इस दिन आप मछलियों को आटे की गोलियां भी खिला सकते हैं।

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close