पाकिस्तान में गूंजा आज़ादी का स्वर, सिंधियों ने की पाकिस्तान से की आजादी माँग!

इस्लामाबाद: जिस तरह से भारत में कई धर्म के लोग रहते हैं, ठीक वैसे भी भारत से लगा हुए पाकिस्तान में भी कई धर्म के लोग रहते हैं। हां ये अलग बात है कि वहाँ रहने वाले अन्य धर्मों के लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उन्हें भारत में रहने वाले अल्पसंख्यकों की तरह सुविधाएँ नहीं मिलती हैं और ना ही उनके साथ अच्छा व्यवहार किया जाता है। यही वजह है कि पाकिस्तान के हैदराबाद में सिंध प्रान्त के लिए आजादी की माग जमकर हो रही है। Sindhi demand independence from Pakistan.

प्रदर्शन की शुरुआत हुई हैदराबाद सिंध विश्वविद्याल से:

इसके लिए वहाँ के प्रतिबंधित संगठन जीय सिंध मुत्ताहिदा महाज (JSMM) के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने सडकों पर जमकर प्रदर्शन किया। JSMM का यह प्रदर्शन पाकिस्तानी सेना और ISI के जरिये पकड़े गए सिन्धी नेताओं की आजादी के लिए किया। इस प्रदर्शन की शुरुआत हैदराबाद के सिंध विश्वविद्यालय से हुई और प्रेस क्लब में समाप्त हो गयी। प्रदर्शनकारियों ने हाथ में सिंध प्रान्त की स्वतंत्रता के बैनर और तख्ते लिए हुए थे।

पुलिस ने गोलीबारी करके रोकना चाहा प्रदर्शन:

प्रदर्शन के दौरान उन्होंने संयुक्त राष्ट्र, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय और मानवाधिकार संगठनों से यह आग्रह किया गया कि वह पाकिस्तान सरकार को नोटिस भेजे। पाकिस्तानी कब्जे, शोषण और क्रूरता के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की और कार्यकर्ताओं की हत्याओं पर अधिकारीयों से सवाल किया। JSMM के नेता असीफ जुनो ने प्रेस क्लब में लोगों को संबोधित किया वहीँ पुलिस भारी बैटन चार्ज और गोलीबारी से प्रदर्शन को रोकने की पूरी कोशिश की।

कार्यकर्ताओं का कर लिया जाता है अपहरण:

आपको बता दें JSMM के 100 से भी ज्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया। शफी बर्फट ने कार्यकर्ताओं पर अत्याचार की निंदा की। JSMM के अध्यक्ष ने कहा कि स्वतंत्रता के अधिकार का खुला उलंघन हो रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि सिन्धी राजनीतिक कार्यकर्ताओं को पाकिस्तानी सरकार द्वारा जमकर सताया जा रहा है। कार्यकर्ताओं का अपहरण कर लिया जाता है बाद में उन्हें मार भी दिया जाता है।

भारत से सिंध की स्वतंत्रता के लिए समर्थन की माँग : देखें वीडियो- 

अगर कोई अपने ऊपर हो रहे अत्याचार के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय असमुदय में अपील की बात कहता है तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाता है। उन्होंने अमेरिका, भारत, जर्मनी, ब्रिटेन, फ़्रांस और संयुक्त राष्ट्र संघ सहित अन्य अंतर्राष्ट्रीय समुदायों से पाकिस्तान द्वारा किये जा रहे अत्यचारों पर तत्काल नोटिस लेने के लिए कहा। उन्होंने सिंध की स्वतंत्रता के लिए समर्थन देने की भी अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.