जीवन से हैं निराश और नहीं हो रही तरक्की तो तुरंत जाएँ इस मंदिर, होगा समस्या का निवारण!

आज के समय में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो सफल नहीं होना चाहता है। हर व्यक्ति चाहता है कि वह जीवन में काफी सफल हो। लेकिन सच्चाई यह भी है कि केवल चाहने से ही सभी लोग सफल नहीं हो सकते हैं। कुछ ही लोग होते हैं, जो चाहते हैं उन्हें मिल जाता है। बाकी लोगों को जीवन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। kukke subramanya temple of karnatka.

सुखी जीवन बिताने के लिए दिन-रात मेहनत करते हैं और पैसा जोड़ते हैं, लेकिन इस पैसे का कोई फायदा नहीं ले पाते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं है। इस दुनिया में अकेले आप ही नहीं हैं जो ऐसी समस्या से ग्रसित हैं। कहा जाता है कि इंसान को अपना कर्म करना चाहिए और उसके फल के बारे में सोचना नहीं चाहिए। अगर आप अच्छा कर्म करेंगे तो आपके साथ जरुर अच्छा होगा।

जीवन में हार जाने के बाद लोग जाते हैं इस जगह पर:

अगर आपको आपकी मनमुताबिक सफलता नहीं मिल रही है तो चिंता करना छोड़ दीजिये। हमारे देश में एक ऐसी भी जगह हैं, जहाँ तभी लोग जाते हैं जब वह जीवन में खुद को हारा हुआ महसूस करते हैं। जब लोगों को कहीं भी उम्मीद की किरण नहीं दिखती है और वह हर तरफ से निराश हो जाता है तो इसी जगह पर जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस जगह पर बड़े-बड़े स्टार भी जाते हैं।

यहाँ जाने के बाद नहीं आता कोई खाली हाथ:

दक्षिण भारत के कर्नाटक राज्य में मंगलौर के लगभग 100 किमी की दूरी पर कुक्के सुभ्रमन्या नाम की एक ऐसी जगह हैं, जहाँ जाने के बाद कोई भी खाली हाथ नहीं आता है। जो भी इस मंदिर में श्रद्धा से मांगता है, उसकी हर मुराद पूरी हो जाती है। यहाँ जाने के बाद यहाँ के प्रसाद को ग्रहण करना बिलकुल भी ना भूलें। भगवान के दरबार में जाने के बाद आप अपने घमंड को बाहर ही छोड़कर जाएँ। भगवान से कुछ भी छुपा हुआ नहीं है।

हर धर्म के लोगों के लिए खुला है इस मंदिर का द्वार:

भगवान आपके बारे में सबकुछ जानते हैं। भगवान को आपके रूपये पैसे की नहीं बस आपकी श्रद्धा की जरुरत है। यहाँ पर अपने बुरे वक़्त में अमिताभ बच्चन और अजय देवगन जैसे बड़े अभिनेता भी जा चुके हैं। जब इतने बड़े अभिनेताओं को कुक्के सुभ्रमान्य मंदिर में माता टेकने की जरूरत पड़ गयी तो आप क्यों नहीं जा सकते हैं। इस मंदिर की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि यहाँ हर धर्म के लोग माथा टेकने आते हैं। इस मंदिर में जाने के लिए आपका हिन्दू होना जरुरी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.