यें है दुनिया की 5 सबसे खतरनाक और खूंखार खुफिया एजेंसी, इन के बारे में जान कर रह जाएंगे दंग

खुफिया एजेंसी किसी भी देश की सुरक्षा के लिए सबसे महत्वपूर्ण होती हैं। दुनिया में हर शक्तिशाली देश की ताकत इस बात पर निर्भर करती है कि उस देश की खुफिया एजेंसी कितनी मजबूत और ताकतवर है। हर देश में नागरिकों, दस्तावेजों और खुफिया बातों की सुरक्षा की जिम्मेदारी खुफिया एजेंसी की ही होती है। खुफिया एजेंसी देश की सुरक्षा की ढाल होती हैं। दुनिया में ऐसी बहुत सी दमदार खुफिया एजेंसी है। जो अपने दुश्मनों को धूल चटाने की क्षमता रखती हैं। कई खुफिया एजेंसीयों पर तो फिल्में भी बन चुकी हैं। आइए आपको बताते हैं पांच सबसे खतरनाक खुफिया एजेंसीयों के बारे में….

CIA –

CIA : सबसे पहले नंबर पर आती है सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (CIA) यें अमेरिका की खुफिया एजेंसी है। इसकी स्थापना 1947 में तत्कालीन राष्ट्रपति हैरी ए ट्रूमैन ने की थी। इसका मुख्यालय वाशिंगटन के पास वर्जीनिया में स्थित है। यह साइबर क्राइम, आतंकवाद रोकने समेत सीआईए देश की सुरक्षा के लिए काम करती है। इस खुफिया एजेंसी के 30,000 एजेंट है। जो कि पूरी दुनिया में फैले हुए हैं। इस खुफिया एजेंसी को सबसे ताकतवर माना जाता है। इसी खुफिया एजेंसी की वजह से अमेरीका की सुरक्षा सबसे मजबूत मानी जाती है।

MOSSAD –

MOSSAD : दूसरे नंबर पर आती है इजराइल की खुफिया एजेंसी मोसाद जो की दुनिया की सबसे खूंखार खुफिया एजेंसियों में से एक है। मोसाद की स्थापना 1949 की गई थी। यह दुनिया के एकमात्र यहुदि देश इजराइल की खुफिया एजेंसी है। यह खुफिया एजेंसी दुनिया भर में फैलें यहुदियों की सुरक्षा के लिए कुछ भी कर सकती है। इस एजेंसी ने एक से एक खतरनाक ऑपरेशन करके दुनिया में अपना अलग ही मुकाम हासिल किया है।

MI6 –

MI6 : तीसरे नंबर पर है MI-6 (मिलिट्री इंटेलिजेंस सेक्शन-6) यह यूनाइटेड किंगडम की खुफिया एजेंसी है। इस की स्थापना 1909 में की गई थी। यह सबसे पुरानी खुफिया एजेंसियों में से एक है। जेम्स बांड की कई मूवी इसी एजेंसी द्वारा किए गए खुफिया ऑपरेशन पर ही बनी है। MI-6 ब्रिटिश महारानी के अंडर में काम करती है। इस एजेंसी को सबसे अनुभवी खुफिया एजेंसी माना जाता है।

RAW –

RAW : यह भारत की खुफिया एजेंसी है। RAW (रिसर्च एंड एनालिसिस) इस की स्थापना 1968 में की गई थी। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। यह उन गिनी चुनी खुफिया एजेंसी में से एक है जो अपने कार्य और ऑपरेशन के लिए सबसे खास मानी जाती है। RAW बारे में सबसे खास बात यह है कि यह अपने ऑपरेशन की सफलता के बावजूद भी गुप्त रखती है। जिस कारण दुनिया को इसकी गतिविधियों के बारे में बहुत कम ही पता चलता है।

MSS –

MSS : यह चाइना की खुफिया एजेंसी है। इस की स्थापना 1949 मे की गई थी। लेकिन फिर दुबारा 1983 में एक नए रूप में इस खुफिया एजेंसी की शुरुआत की गई। चाइनीज खुफिया एजेंसी का इतिहास थोड़ा रहस्यमयीं है। इस खुफिया एजेंसी के जासूस भी दुनिया के कोने-कोने में फैले हैं। यह एजेंसी चाइना के हीतों की रक्षा के लिए काम करती है। यह खुफिया एजेंसी दूसरे देशों की टेक्नोलॉजी चुराने के लिए भी काफी बदनाम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.