समाचार

घर-घर जाकर ट्यूशन पढ़ाता था टीचर, 18 बच्चे हो गए कोरोना संक्रमित, कंटेनमेंट जोन बना पूरा गांव

बिहार में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. संक्रमित मरीजों की संख्या 100 के आंकड़े को पार कर गयी है. पिछले 24 घंटे में बिहार में 26 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है. शेखपुरा में एक शिक्षक के लापरवाही के कारण करीब 16 बच्चे संक्रमित हो गये हैं. पूरे गांव को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है. साथ ही ओमिक्रोन जांच के लिए सैंपल भेज दिया गया है. बताया जाता है कि मामला उजागर होने के बाद संक्रमित शिक्षक गांव से फरार है ।

Tuition Teache

जानकारी के अनुसार घर-घर जाकर ट्यूशन पढ़ाने वाला अभिषेक कुमार पहले खुद पॉजिटिव हुआ, इसके बाद उसके सम्पर्क में आये 16 बच्चे कोरोना की चपेट में आ गये. बताया जाता है कि होम आइसोलेशन में रहने की बजाये संक्रमित शिक्षक ने लापरवाही दिखायी और बेंगलुरू फरार हो गया. अब जिला प्रशासन कार्रवाई की बात कह रहा है. वहीं संक्रमित शिक्षक की मां की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आयी है ।

Tuition Teache

बताया जाता है कि कैथवां गांव निवासी अभिषेक की कोरोना रिपोर्ट 20 दिसंबर को पॉजिटिव आई थी. अभिषेक गांव में ही बच्चे को ट्यूशन पढ़ता था. संक्रमित होने के बावजूद वो बच्चों को पढ़ाता रहा. तीन बार जांच होने के बाद भी मरीज को आइसोलेशन में नहीं डाला गया. इसके कारण पांच स्कूली बच्चे संक्रमित हो गये. सभी संक्रमित स्कूली बच्चे उसी गांव के मध्य विद्यालय में के छात्र हैं ।

एक साथ 14 नये संक्रमित मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की रातों की नींद उड़ गयी है. डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि पिछले सोमवार को ही अभिषेक कुमार के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला था. इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने सजगता के साथ उसके संपर्क में आने वाले सभी लोगों के अलावा पूरे गांव के लगभग 235 लोगों की जांच की. इसमें से कुल 20 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं ।

Tuition Teache

जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जाएगा सैंपल

बताया जाता है कि 23 दिसंबर से कोरोना संक्रमित मिले शिक्षक अभिषेक कुमार घर-घर जाकर बच्चों को होम ट्यूशन पढ़ाता था. वह दर्जनों बच्चों को प्रारंभिक शिक्षा दे रहा था. सिविल सर्जन डॉ. पृथ्वीराज ने बताया कि कैथमा गांव में संक्रमितों की सूचना मिलने के बाद शिविर लगाकर बच्चों और उनके परिजनों की जांच की गई.

रविवार को पांच बच्चे और सोमवार को 13 बच्चे संक्रमित मिले हैं. सबकी जांच एंटीजन किट से की गई. जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भी सैंपल पटना भेजा जाएगा. गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए सील किया जाएगा. इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है ।

Back to top button
?>