समाचार

UPTET पेपर स्थगित होने के बाद एक्शन में सीएम योगी और पुलिस। जानिए सीएम ने क्या कहा?…

UP TET पेपर लीक के बाद एक्शन में यूपी सरकार और पुलिस, 23 से ज़्यादा हुए गिरफ्तार

यूपी-बिहार जैसे राज्यों में पेपर लीक या बोर्ड परीक्षाओं में नकल होना एक समय आम बात थी। ख़ासकर यूपी की बात करें, तो पूर्ववर्ती सरकारों के दौरान तो परीक्षाओं में धांधली आम बात थी, लेकिन जबसे यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार आई है। उसके बाद से इन मामलों में बेहद कमी देखी गई, लेकिन अब एक ताजा मामला निकलकर सामने आया है। जी हां यूपीटेट का पेपर लीक होने के बाद रविवार को परीक्षा स्थगित कर दी गई है।

बता दें कि 28 नवंबर 2021 को सुबह 10 बजे से उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) आयोजित की गई थी, लेकिन परीक्षा शुरू होने के कुछ देर में ही पेपर लीक हो गया। वहीं वॉट्सएप पर पेपर लीक होने के बाद यूपीटेट परीक्षा को स्थगित कर दिया गया और अब इस मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्विट किया है। आइए ऐसे में जानते हैं पूरा मामला…


बता दें कि उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के पेपर को लीक होने की आशंका में रद्द कर दिया गया। वहीं एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार और प्रमुख सचिव दीपक कुमार ने बताया कि पेपर शुरू होने से पहले मथुरा, गाजियाबाद और बुलंदशहर के व्हाट्सएप ग्रुप पर पेपर वायरल हो गया था। पुलिस ने इस मामले में अबतक 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Up Tet

इसके अलावा इसमें 13 प्रयागराज से पकड़े गए हैं। वहीं प्रशांत कुमार ने कहा कि एसटीएफ पूरे मामले की जांच कर रही है  जो लोग पकड़े गए हैं उसमें कुछ लोग बिहार से हैं और जांच जारी है।

Up Tet

जानकारी के लिए बता दें कि शिक्षक बनने के लिए अनिवार्य टीईटी परीक्षा 28 नवंबर को केंद्रों पर सुबह 10 बजे शुरू हुई थी। 9:30 परीक्षार्थियों को उनके कक्ष में बैठा दिया गया था। 9:45 पर उन्हें प्रश्न पत्र और ओएमआर शीट वितरित की गई थी। वहीं इसी दौरान सभी परीक्षार्थियों ने अपनी जरूरी एंट्री को भरा और 10 बजे उन्हें प्रश्नपत्र दिया गया। इस दौरान सेंटरों पर मजिस्ट्रेट पहुंचे और परीक्षा स्थगित होने की सूचना दी।


सीएम योगी ने कहा हम अभ्यर्थियों के साथ नहीं होने देंगे अन्याय…

मालूम हो कि पेपर लीक होने की घटना के बाद सीएम योगी ने कहा कि, “UPTET का पेपर लीक करने वाले गिरोह को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। दोषियों को चिह्नित कर त्वरित कार्रवाई की जा रही है। वहीं दोषियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर उनकी संपत्ति भी जब्त की जाएगी।”

Up Tet

इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, “हमारे नौजवान बहनों-भाइयों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। आप सबको हुई असुविधा के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा जरूर मिलेगी। आपकी सरकार शुचितापूर्वक एवं पारदर्शी तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए कृतसंकल्पित है।”

एक महीने के अंदर होगा पेपर…

Up Tet

बता दें कि सीएम योगी ने अपने तीसरे ट्वीट में लिखा कि UPTET के अभ्यर्थियों के साथ प्रदेश सरकार खड़ी है। 1 महीने के अंदर पारदर्शी तरीके से पुनः परीक्षा आयोजित होगी और किसी भी अभ्यर्थी से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को आने-जाने हेतु @UPSRTCHQ की बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा भी दी जाएगी।


कई ग्रुपों में वायरल हुआ था पेपर…


वहीं मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गाजियाबाद, मथुरा और बुलंदशहर के कई वॉट्सएप ग्रुपों पर यूपीटेट का पेपर वायरल हो गया। बताया जा रहा है कि अब उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा बोर्ड (UPBEB) एक महीने के अंदर फिर से UPTET का आयोजन करेगा। हालांकि, उस दौरान अभ्यर्थियों को परीक्षा शुल्क नहीं देना होगा।


दो पालियों में इतने बच्चे देने वाले थे पेपर…

Up Tet

गौरतलब हो कि सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय कुमार उपाध्याय ने बताया कि दोनों पालियों की परीक्षाएं निरस्त कर दी गई हैं। एक महीने के अंदर दोबारा टीईटी परीक्षा कराई जाएगी। एप्लीकेंट्स को इसके लिए दोबारा फीस नहीं देनी पड़ेगी। बता दें कि यूपी टीईटी 2021 की परीक्षा दो पालियों में 2554 केंद्रों पर 28 नवंबर को प्रस्तावित थी। पहली में 12,91,628 और दूसरी पाली में 8,73,553 अभ्यर्थी शामिल होने थे।

सुबह से ही था अफरातफरी का माहौल, आधे घंटे में छीन ली गई टीईटी बुकलेट…


वहीं आख़िर में बता दें कि कानपुर में ऐन वक्त पर टीईटी परीक्षा रद्द होने से कॉलेजों में हंगामा खड़ा हो गया। आधे घंटे में टीईटी अभ्यार्थियों से बुकलेट छीन ली गई। कई महिला अभ्यार्थी रोने लगीं तो परीक्षा केंद्र से छात्र-छात्राओं को बाहर निकालने पर बवाल मच गया। बता दें कि सुबह से ही अफरातफरी का माहौल रहा और फ़िर पुलिस ने स्थिति संभाली।

Back to top button
?>