ब्रेकिंग न्यूज़

जम्मू कश्मीर: 6 अलगाववादी नेता पूछताछ के लिए दिल्ली तलब, NIA कर रही है जांच!

जम्मू कश्मीर: कश्मीर में लगातार बढती अशांति और सुरक्षा बलों के खिलाफ चल रही हिंसक गतिविधियों के मद्देनजर सुरक्षा एजेंसियों ने सक्रियता बढ़ा दी है, इसी बीच टेरर फंडिंग यानी कि कश्मीर में सरकार विरोधी और हिंसक गतिविधियों को बढावा देने के मामले में 6 अलगाववादी नेताओं को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया गया है. आपको बता दें कि पूछताछ के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी NIA ने इन हुर्रियत नेताओं को दिल्ली तलब किया है.

इनसे पहले भी दिल्ली स्थित NIA मुख्यालय में पूछताछ की जा चुकी है :

 

इससे पहले भी NIA इन अलगाववादी नेताओं को दिल्ली बुलाकर पूछताछ कर चुका है. NIA द्वारा दिल्ली तलब किये गए अलगाववादी और हुर्रियत नेताओं में अल्ताफ फंटूश, बिट्टा कराटे, गाज़ी जावेद बाबा, नईम खान, मेहराजुद्दीन और अयाज़ अकबर का नाम शामिल हैं. इनसे पहले भी दिल्ली स्थित NIA मुख्यालय में पूछताछ की जा चुकी है.

गौरतलब है कि इससे पहले कश्मीर की तहरीक -ए-हुर्रियत पार्टी के तीन नेताओं को NIA की टीम ने श्रीनगर में गिरफ्तार कर लिया था. जिन नेताओं को NIA की टीम ने गिरफ्तर किया है उनमें अलगाववादी नेता सयैद अली शाह गिलानी के दामाद अल्ताफ फंटूश, गिलानी के पीआरओ अयाज अकबर, और मेहराजदिन कलवल शामिल हैं. ये तीनों नेता तहरीक-ए-हुर्रियत पार्टी के हैं, गौरतलब है कि तहरीक-ए-हुर्रियत पार्टी अलगाववादी सयैद अली शाह गिलानी की पार्टी है.

आपको बता दें कि इसी महीने NIA ने गिरफ्तार किये गए तीनों नेताओं के घर छापा मारा था. गिलानी की पार्टी तहरीक-ए-हुर्रियत ने इस बात की पुष्टि की है कि तीन नेता गिरफ्तार किये गए हैं. हालांकि गिलानी के करीबियों की गिरफ्तारी का कारण नहीं बताया गया है.

यह पूरा मामला टेरर फंडिंग का है जिसका खुलासा एक नेशनल मीडिया चैनल के स्टिंग ऑपरेशन से हुआ था, न्यूज चैनल के उस स्टिंग ऑपरेशन में यह बात स्पष्ट तौर पर देखने को मिली कि कश्मीर में पत्थरबाजी करने और अशांति फैलाने के लिए पाकिस्तान से फंडिंग होती है. उस स्टिंग ऑपरेशन में पहली बार कैमरे पर अलगाववादी नेता पाकिस्तान से पैसे लेकर घाटी में माहौल खराब करने की बात कबूलते दिखे थे. यह मामला सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियां तत्काल हरकत में आईं और केंद्र सरकार ने इसकी जांच एनआईए को सौंप दी.

Related Articles

Close