राजनीति

आधी रात को ट्विटर पर इस्तीफा, चुनाव से पहले पंजाब में कमजोर पड़ रही केजरीवाल एंड टीम…

पंजाब में आप'के' अरमान को चुनाव से पहले एक और झटका, जानिए पूरी कहानी...

दिल्ली के बाद पंजाब में अपनी सरकार बनते देखने के अरविंद केजरीवाल के सपने को पंजाब चुनाव से पूर्व एक बड़ा झटका लगता नजऱ आ रहा है। जी हां आम आदमी पार्टी (AAP) के एक विधायक ने आधी रात को ट्विटर के माध्यम से इस्तीफा दे दिया है। ऐसे में आइए समझते हैं क्या है पूरा मामला…

बता दें कि पंजाब विधानसभा चुनाव अब काफ़ी क़रीब है। ऐसे में सभी राजनीतिक दल अपने-अपने सियासी दांव-पेंच मजबूत करने में लगें हैं। वहीं इसी बीच आम आदमी पार्टी को उन्हीं के एक विधायक ने झटका दे दिया है। गौरतलब हो कि बठिंडा से विधायक रूपिंदर रूबी ने मंगलवार आधी रात को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने ट्विटर पर पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल को टैग करते कहा कि मैं आपकी पार्टी छोड़ रही हूं। वहीं इस ट्वीट में उन्होंने संगरूर से सांसद भगवंत मान को भी टैग किया है।


बता दें कि यह इस्तीफा ऐसे समय पर आया है, जब केजरीवाल पंजाब चुनाव को लेकर ताबड़तोड़ दौरे कर रहे हैं। उधर, आप नेता हरपाल चीमा ने कहा कि रूबी को इस बार टिकट नहीं मिलनी थी, इसलिए उन्होंने पार्टी छोड़ दी है।

वहीं सूत्रों के हवाले से जो बात निकलकर आ रही है। उसके मुताबिक विधायक रुपिंदर रूबी कांग्रेस में शामिल हो सकती हैं। मंगलवार देर रात इस्तीफा देने से पहले उन्होंने सीएम (CM) चरणजीत चन्नी, पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू और कांग्रेस इंचार्ज हरीश चौधरी से मुलाकात की थी। सारी बातचीत होने के बाद ही उन्होंने रात को सोशल मीडिया पर अपना इस्तीफा पोस्ट कर दिया।

भगवंत मान को सीएम कैंडिडेट बनते देखना चाहती थी विधायक रूबी…

बता दें कि बठिंडा देहाती से विधायक रूबी अक़्सर भगवंत मान को लेकर चर्चा में रहीं। वह लगातार संगरूर से सांसद भगवंत मान को सीएम (CM) चेहरा घोषित करने की मांग करती रहीं। सूत्रों की मानें तो उनकी इसी खुली बयानबाजी की वजह से पार्टी भी नाराज चल रही थी।

Rupindar Rubi

मालूम हो कि रूबी ने यहां तक कह दिया था कि अगर भगवंत मान नहीं तो फिर अरविंद केजरीवाल ही पंजाब में सीएम चेहरा बचते हैं। भगवंत मान भी पार्टी की देरी की वजह से नाराज चल रहे हैं। पिछली बार विरोधियों ने किसी बाहरी को सीएम (CM) बनाने का मुद्दा भुनाकर आप के खिलाफ माहौल खड़ा कर दिया था।

आधे घंटे चली मुलाकात, फ़िर ट्वीट के माध्यम से दिया इस्तीफा…

Rupindar Rubi

वहीं बठिंडा देहाती से विधायक रूबी मंगलवार दोपहर करीब ढाई बजे चंडीगढ़ पहुंची थीं। यहां तब कैबिनेट की मीटिंग से पहले सीएम चन्नी और सिद्धू की मीटिंग चल रही थी। जिसमें पंजाब इंचार्ज हरीश चौधरी भी शामिल थे। वहीं, रूबी की करीब आधे घण्टे मुलाकात हुई। उसके बाद से ही लग रहा था कि मौजूदा विधायक होने की वजह से टिकट कन्फर्म होने के बाद उन्होंने वापस आकर अपना इस्तीफा दे दिया।

पहले भी 5 MLA छोड़ चुके हैं ‘आपका’ साथ…

Arvind_Kejriwal

गौरतलब हो कि रूबी आम आदमी पार्टी छोड़ने वाली छठवीं विधायक हैं। इससे पहले आम आदमी पार्टी को छोड़कर सुखपाल सिंह खैहरा, पिरमल सिंह खालसा और जगदेव सिंह कमालू कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। जैतो से विधायक बलदेव सिंह और एचएस फूलका ने भी विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था।

आप नेता चीमा ने कहा, इस बार टिकट नहीं मिलनी थी…

Rupindar Rubi

वहीं दूसरी तरफ़ रूबी के इस्तीफे पर आम आदमी पार्टी की प्रतिक्रिया भी आ गई है। विधानसभा में विपक्षी दल के नेता हरपाल चीमा ने कहा कि रूपिंदर रूबी को आप से टिकट मिलने के चांस नहीं थे। वह उनकी छोटी बहन है और जहां भी जाए, खुश रहे। उन्होंने कहा कि टिकट की वजह से वह कांग्रेस जॉइन कर रही हैं। उन्होंने कांग्रेस से गुजारिश की है कि रूबी के साथ धोखा न करें और बठिंडा देहाती से टिकट जरूर दें।

Back to top button