बॉलीवुड

आशुतोष राणा एक ऐसा अभिनेता जिनके किरदार को स्क्रीन पर देखकर जनता भी खौफ खा गई थी

संघर्ष फिल्म का लज्जा शंकर पांडे उर्फ़ अभिनेता आशुतोष राणा आज मना रहे है अपना जन्मदिन

बॉलीवुड में कई बेहतरीन एक्टर्स है. जो अपने अभिनय से हर किसी को अपना दीवाना बना देते है. इन्ही बेहतरीन एक्टर्स में आशुतोष राणा (Ashutosh Rana) का नाम भी आता है. आशुतोष राणा आज 10 नवम्बर को अपना जन्मदिन मना रहे है. उनका जन्म 10 नवंबर 1967 को मध्य प्रदेश के गाडरवारा जिले में हुआ था.

Ashutosh Rana

इस एक्टर ने अपने जानदार अभिनय से अपनी एक अलग पहचान बनाई है. एक्टर, प्रोड्यूसर, होस्ट, लेखक आशुतोष बेहद विद्वान और उम्दा कलाकार माने जाते हैं. आशुतोष सिर्फ हिंदी ही नहीं बल्कि मराठी, तेलुगू कन्नड़, तमिल फिल्मों में भी अभिनय करते है.

Ashutosh Rana

आशुतोष राणा को हाल ही में ‘पगलैट’ (Pagglait) फिल्म और ‘छत्रसाल’ वेब सीरीज में अपने जबरदस्त अभिनय के लिए फिल्म फेयर के दो अलग-अलग कैटेगरी में बेस्ट सपोर्टिंग मेल एक्टर के लिए नॉमिनेट किया गया हैं. आशुतोष ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा दिल्ली से अभिनय की बारीकी सीखी है.

अपने जन्मदिन से ठीक पहले मिली इस ख़ुशी को एक्टर ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है. आशुतोष ने अपने करियर में कई एक से बढ़कर एक फिल्मों में काम किया है, लेकिन उनकी एक फिल्म ऐसी है जो आज भी लोगों को याद है.

ashutosh rana

आशुतोष राणा अमूमन नेगेटिव रोल ही निभाते है. उसमे वह जान फूँक देते है. कई बार तो उनका रूप फिल्म देखने वालो को भी डरा देता है. फिल्म ‘संघर्ष’ में लज्जा शंकर पांडे का रोल आज तक कोई भुला नहीं पाया होगा. उन्होंने बच्चों की बलि देने वाले कैरेक्टर को इस तरह निभाया कि थियेटर में बैठे दर्शकों के रोंगटे तक खड़े हो गए थे.

ashutosh rana

शायद इस किरदार को उनसे बेहतर कोई निभा भी नहीं सकता था.‘संघर्ष’ फिल्म में आशुतोष राणा ने एक ऐसे किन्नर का रोल निभाया था जो बच्चों की बलि देकर अमर हो जाना चाहता है. लज्जा शंकर पांडे का चीखना, सनकीपन और जीभ को ट्विस्ट करने वाली आवाज ने थियेटर में बैठे दर्शकों के मन में भी डर भर दिया था.

ashutosh rana

उनके इस किरदार ने उन्हें एक बड़ी पहचान दिलाई और वह बॉलीवुड के सबसे खतरनाक विलेन बन गए. कुछ ख़बरों की माने तो महेश भट्ट ने जब इस फिल्म को बनाने के बारे में सोचा तो उनके दिमाग में इस किरदार के लिए आशुतोष ही सबसे पहली पसंद थे. उन्होंने ये भी कहा था कि इस फिल्म जैसा विलेन आज तक बॉलीवुड में देखा नहीं गया होगा.

महेश भट्ट की ये बात सच साबित हुई और संघर्ष’ जब रिलीज हुई तो खौफनाक अभिनय के लिए आशुतोष को फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

Ashutosh Rana

आपको बता दें कि फिल्मों में नेगेटिव रोल निभाने वाले ये अभिनेता अपनी असल जिंदगी में बेहद ही सुलझे हुए इंसान है. आशुतोष बेहद ही धार्मिक प्रवृत्ति के हैं. एक्टर बचपन से ही रामलीला और नौटंकी में हिस्सा लिया करते थे. इसका उनके दिमाग पर भी गहरा असर है. एक्टर ने ‘रामराज्य’ जैसी किताब लिखी है. आशुतोष की ये किताब काफी चर्चा में रही थी.

आशुतोष राणा कई बड़े मंचों पर अपनी कविता का पाठ भी कर चुके है. उनकी कवितायें भी सभी का मन जीत लेती है.आशुतोष की जीवन संगिनी भी मशहूर एक्ट्रेस रेणुका शहाणे हैं. इनके दो बेटे शौर्यमन राणा और सत्येंद्र राणा हैं.

Back to top button