ये क्या !! भगवान नहीं चाहते कि इस गाँव में कभी शौचालय बनें

देशभर में जहाँ प्रधानमंत्री के स्वच्छता मिशन को लेकर भले ही उत्साह का माहौल है, वहीँ उत्तरकाशी के चिन्यालीसौड़ ब्लाक के नौ गांवों का इस मिशन से कोई लेना-देना नहीं। इन गांवों के लोग आज भी स्वच्छता का प्रतिक माने  जाने वाला शौचालय को मानते है अपशकुन। जी हाँ आपको बता दें की यह एक ऐसा गाँव है जहाँ जिन्होंने स्वच्छता मिशन की प्रेरणा से गांव में शौचालय बनाए भी थे, उन्होंने भी उसे तोड़ डाला।

ये क्या !! भगवान नहीं चाहते कि इस गाँव में कभी शौचालय बनें

ग्रामीणों की इस सोच को बदलने के लिए स्वजल परियोजना ने कई बार प्रेरक नुक्कड़ नाटक किए, कई बार ग्रामीणों के साथ बैठकें कीं, लेकिन इनके ऊपर इसका कोई असर नहीं पड़ा। इसे देखते हुए अब आज चिन्यालीसौड़ के क्यारी दशगी गांव में महापंचायत बुलाई गई है। जिला मुख्यालय उत्तरकाशी से 60 किलोमीटर दूर चिन्यालीसौड़ ब्लाक के क्यारी दशगी, तराकोट, मथाली, धारगढ़, सूरी, जिब्या, बनोट पल्ला, बदाल्डा व रमोली गांव में 881 परिवार रहते हैं।

अधिक जानें अगले पेज पर :

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.